पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

70 साल बाद टूटेगी परंपरा:कुनकुरी में इस बार नहीं होगा रावण दहन

कुनकुरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना संक्रमण के कारण नगर में लग गया लॉकडाउन

कोरोना वायरस के संक्रमण का असर दशहरा महोत्सव पर नजर आ रहा है। देखा जा रहा है। 70 साल में पहली बार इस साल नगर में रावण दहन का कार्यक्रम नहीं होगा। कोरोना के मद्देनजर दशहरा आयोजन समिति ने रावण दहन कार्यक्रम नहीं करने का निश्चय किया है। नगर में सप्ताह भर का लाॅकडाउन फिर से लग गया है। यह लाॅकडाउन शुक्रवार से 29 अक्टूबर की रात 12 बजे तक के लिए लगाया गया है। इसमें कुनकुरी नगर पंचायत क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए दवा एवं आवश्यक सेवा को छोड़कर सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों को बंद रखने की घोषणा की गई है।। स्थानीय व्यवसायियों के अनुरोध एवं नागरिकों की सुविधा को देखते हुए सुबह 6 बजे से 11 बजे तक बाजार खोलने की अनुमति दीी गई है। बीते माह तीन सप्ताह के लाॅकडाउन के बाद एक बार फिर से पूरे नगरीय क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। जिससे व्यापारियों एवं नागरिकों में चिंता व्याप्त है। नवरात्र पर्व का समय होने के कारण धार्मिक गतिविधियों के प्रभावित होने से भी श्रद्धालुओं में निराशा व्याप्त है। जन स्वास्थ्य की सुरक्षा को देखते हुए समस्त धार्मिक विधान कोरोना प्रोटोकाॅल के अनुसार संचालित करने की व्यवस्था कर चुके धार्मिक संस्थानों को भी लाॅकडाउन लगने से अपनी व्यवस्था एवं आयोजनों को फिर से व्यवस्थित करना पड़ रहा है। नगर में सनातन धर्म समिति दुर्गा पूजा महोत्सव और रावण दहन कार्यक्रम कराती है। इस संबंध में अध्यक्ष विनित जिंदल एवं श्याम सुंदर बंग ने बताया कि इस वर्ष कोरोना त्रासदी के कारण लगे लाॅकडाउन के कारण रावण दहन का सार्वजनिक कार्यक्रम निरस्त कर दिया गया है। नगर में रावण दहन का कार्यक्रम सात दशकों से निरंतर आयोजित किया जा रहा था। परम्परा का निर्वाह करते हुए मंदिर परिसर में ही प्रतीक रूप से रावण दहन किया जाएगा। इसमें आम लोग नहीं शामिल होंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें