पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बड़ी दुविधा:14.5 लाख खाते, बीमा सिर्फ 5 लाख लोगों का, जानकारी ही नहीं इसलिए क्लेम के सिर्फ 13 आवेदन

रायगढ़14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोविड से हुई मौत में भी सामान्य मृत्यु बीमा का लाभ ले सकते हैं खाताधारक

अनहोनी पर परिजन को आर्थिक सहारा मिले, इसलिए सरकारी योजनाएं चलाकर खातों में टर्म इंश्योरेंस की सुविधा तो दी गई है लेकन जानकारी नहीं होने के कारण लोग उसका लाभ नहीं ले पा रहे हैं। दो साल में लगभग 5 लाख लोगों के खातों में टर्म इंश्योरेंस प्लान के तहत बीमा हुआ है। लेकिन क्लेम के लिए आवेदन सिर्फ 13 लोगों ने किए हैं। मौतों की जानकारी मिलने पर लीड बैंक सर्वे कराता है, उसमें 156 ऐसे लोग हैं जिन्हें लीड बैंक ने पात्र बता अफसरों ने खुद क्लेम लेने के लिए पत्र लिखा है। अगर खाताधारकों में जागरूकता हो तो कोविड से मौत में भी इस बीमे का लाभ मिल सकता है।

2014 से 2017 के बीच केंद्र सरकार ने बचत खातों और जन-धन खाताधारकों के बीमे के साथ ही प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधान मंत्री सुरक्षा योजना, अटल पेंशन योजना लॉंच की गई थी। इन योजनाओं के तहत ही मामूली प्रीमियम लेकर खाताधारकों का बीमा किया गया था। शुरुआत में सभी जन-धन खातों में अनिवार्य मानकर खाताधारकों का बीमा कराया गया। 2020 तक जिले में खुले लगभग साढ़े 14 लाख खातों में लगभग 5 लाख खाताधारकों का बीमा किया गया था। लेकिन बीते दो सालों में केवल 13 लोगों ने ही क्लेम यानि बीमित राशि के लिए आवेदन दिया। लीड बैंक के मुताबिक अब तक एक ने भी इसके लिए आवेदन नहीं किया है। 2020-21 में अभी तक केवल 13 लोगों ने ही बीमा पाने के लिए अपने दस्तावेज बैंक में जमा करते हुए क्लेम मांगा है।

बीमा कंपनी सामान्य मानी रही है कोविड डेथ को
लीड बैंक के मैनेजर कृष्णा सिंकू के अनुसार कोविड बीमारी को बैंक प्राकृ़तिक आपदा की श्रेणी में रखता है इसलिए इंश्योरेंस कंपनी कोविड से हुई मौत को सामान्य मौत मान रही है इसे एक्सीडेंटल मौत नहीं माना जा रहा है। इसमें केवल सामान्य मृत्यु में होने वाला टर्म इंश्योरेंस ही काम करता है। 2020-21 में ही जिले में 2 हजार 155 लोगों की मौत हुई थी। इसमें कोरोना से मौत वालों की संख्या लगभग 550 से ज्यादा है। लेकिन योजनाओं का लाभ नहीं उठाने के कारण किसी परिवार को इंश्यारेंस का लाभ नहीं मिल पाता है।

जन-धन खातों में भी सामान्य मृत्यु बीमा
जन-धन खातों में भी सामान्य मृत्यु बीमा के तहत 30 हजार तक बैंक की ओर से दिया जाता है। अलग-अलग खातों में सरकारी योजनाओं के तहत बीमा कवर किया जाता है। लोग डेथ सर्टिफिकेट मिलने के बाद बैंक में आवेदन देकर इसका लाभ ले सकते हैं लेकिन लोग जानकारी के अभाव में आवेदन करते ही नहीं। लीड बैंक ने 118 जनधन खाता धारकों को पत्र लिखकर उनके बीमा को क्लेम करने के लिए दस्तावेज जमा करने लिखा है। इनके पास अन्य किसी तरह की पॉलिसी नहीं है।

टोटल खाते-14 लाख 45 हजार 413

  • 2020-21 में बीमा के लिए आवेदन-13
  • 72 हजार 194 खाते पीएमजेजेबीवाई योजना के तहत इंश्योरड लेकिन पात्र 7
  • 3 लाख 81 हजार 749 खाते जिनमें पीएमएसबीवाई के तहत इंश्योर्ड लेकिन पात्र 27
  • 14 हजार 396 खातों में एपीवाई के तहत बीमित लेकिन पात्र एक भी नहीं
  • 31 मार्च तक की जानकारी)

खातों में होने वाली मामूली कटौती से ये लाभ मिलेंगे

  • जनधन-खाता खोलने के साथ ही 30 हजार रुपए का इंश्योरेंस। 59 साल की उम्र तक इंश्योरेंस पाने का हकदार।
  • पीएमएसबीवाई-12 रुपए सलाना चार्ज। 65 साल की उम्र तक आकस्मिक मृत्यु में 2 लाख रुपए का क्लेम
  • पीएमजेजेबीवाई-330 रुपए सलाना चार्ज। 55 साल की उम्र तक सामान्य मृत्यु में भी 2 लाख रुपए का क्लेम

हमने खुद लोगों को पत्र लिखकर कहा, क्लेम ले जाओ
अभी 13 लोगों को क्लेम देना है। इसके अलावा 156 लोगों को हमने खुद पत्र लिखकर क्लेम का हकदार बताया है और क्लेम लेने के लिए कहा है, इन लोगों से जरूरी दस्तावेज मांगे हैं।''
-कृष्णा सिंकू, प्रभारी लीड बैंक रायगढ़

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें