400 साल पुराना बरगद का पेड़ गिरा:3 मकान क्षतिग्रस्त, हनुमान जी का मंदिर भी टूटा, राहत कार्य में जुटा प्रशासन

रायगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
400 साल पुराना बरगद का पेड़ गिरा। - Dainik Bhaskar
400 साल पुराना बरगद का पेड़ गिरा।

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में 400 साल पुराना बरगद का पेड़ गिर गया। पुसौर तहसील के अंतर्गत आने वाले भाटनपाली गांव में पेड़ गिर जाने से 3 मकान क्षतिग्रस्त हो गए, वहीं एक हनुमान जी का मंदिर भी गिर गया। आज गुरुवार दोपहर लगभग डेढ़ बजे अचानक पेड़ टूटने की आवाज आने लगी। लोगों ने अपने घरों से निकलकर देखा तो उनके होश उड़ गए।

400 साल पुराने विशालकाय बरगद के पेड़ को गिरता देख लोगों में अफरातफरी मच गई। वे तुरंत वहां से दूर हुए। पेड़ की चपेट में आकर घर टूट गए, हालांकि राहत की बात है कि इससे कोई जनहानि नहीं हुई। घटना जूटमिल थाना इलाके की है। ग्रामीणों ने इसकी सूचना तुरंत पुलिस-प्रशासन को दी। सूचना मिलने पर जिला प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और स्थिति का जायजा लिया।बरगद के पेड़ के गिर जाने के बाद कुछ ग्रामीण अपने घर के अंदर नहीं जा पा रहे हैं, साथ ही लोगों को आने-जाने में भी परेशानी हो रही है।

बरगद का पेड़ गिरा।
बरगद का पेड़ गिरा।

प्रशासन गांव वालों की सहायता में जुटा

ग्रामीण भागीरथी प्रधान ने बताया कि ये विशालकाय पेड़ लगातार हो रही बारिश के कारण कमजोर होकर गिर गया। प्रशासन पेड़ को हटाने की कार्रवाई कर रहा है।

बरगद का पेड़ धराशायी।
बरगद का पेड़ धराशायी।

2 साल पहले बलरामपुर में गिरा था 400 साल पुराना पेड़

करीब दो साल पहले बलरामपुर जिले के राजपुर इलाके में डीपाडीह में भी 400 साल पुराना पेड़ धराशायी हो गया था। डीपाडीह राजपुर से 35 किलोमीटर दूर है। यहां 8वीं और 13वीं शताब्दी की पुरातात्विक धरोहरें मौजूद हैं। उस वक्त कई मूर्तियों पर पेड़ गिर जाने से ये क्षतिग्रस्त हो गई थीं। नंदी की मूर्ति को भी नुकसान पहुंचा था।