पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परेशानी:886 किमी सड़क चलने के लायक नहीं, शासन से मांगे 2 हजार करोड़ रुपए

रायगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 101 खस्ताहाल सड़कों को सुधारने के लिए पीडब्ल्यूडी ने कराया सर्वे, बजट को मंजूर कराने शासन को प्रस्ताव भी भेजा

जिले की सड़कों की दशा किस कदर बिगड़ चुकी है। यह पीडब्ल्यूडी द्वारा बनाकर भेजे गए प्रस्ताव से ही समझा जा सकता है। जिले के भीतर 886 किलोमीटर लंबी 101 सड़कों की मरम्मत या निर्माण के लिए पीडब्ल्यूडी ने 2 हजार करोड़ से भी ज्यादा का प्रस्ताव शासन को भेजा है। स्वीकृति मिलने के बाद इसका इस्टीमेट बनाकर भेजा जाएगा। हालांकि इतने भारी-भरकम प्रस्ताव को स्वीकृति मिलेगी इस पर संशय है। जिले में चारों ओर सड़कों की हालत बदतर हो चुकी है। किसी भी दिशा से एक भी सड़क ऐसी नहीं है पूरी हो या जिस पर गड्‌ढे और धूल न हो। जिले में प्रवेश करने और बाहर जाने वाली दोनों ही सड़कों की दशा दयनीय है। 2 हजार करोड़ रुपए का प्रस्ताव भेजने के बाद अब बजट स्वीकृति के लिए इंजीनियर मंत्रालय जा रहे हैं। इन सड़कों में कई प्रमुख मार्ग हैं जिसकी हालत सालों से खराब है और पीडब्ल्यूडी ने मरम्मत के नाम पर करोड़ों रुपए खर्च किए हैं। अधिकतर प्रस्ताव में वे सड़कें शामिल हैं, जिनका प्रस्ताव जनप्रतिनिधियों ने दिया था। बजट को अप्रूवल मिलने के बाद आगे का काम भी शुरू किया जाएगा। प्रस्तावित मार्गों में शहर से लेकर जिले के प्रमुख मार्ग शामिल हैं। कई मार्ग ऐसे भी जिनके मरम्मत के लिए हर साल प्रस्ताव बना कर भेजा जाता है।

जहां काम चल रहा, वो भी शामिल- कुछ मार्ग ऐसे हैं जिनके लिए वर्क ऑर्डर जारी हुआ है। इसलिए इन पर अभी भी काम चल रहा है। जैसे-रायगढ़ से अंबिकापुर मार्ग के लिए 165 करोड़ का प्रस्ताव बनाया गया है जबकि इस सड़क पर पिछले वर्ष ही 9 करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं। इसी तरह कई अन्य मार्ग शामिल हैं। जिन्हें प्रस्ताव में शामिल किया गया है।

ग्रामीण क्षेत्रों में सबसे ज्यादा खराब सड़कें- पीडब्ल्यूडी में दिए प्रस्ताव के अनुसार शहर या इससे जुड़े आसपास के इलाकों में ज्यादातर सड़कें नहीं है। अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कें ऐसी हैं जो 10 साल पहले बनी थी और दोबारा बनी ही नहीं। इसमें सबसे ज्यादा खराब पूंजीपथरा से घरघोड़ा के बीच की सड़क है।

रिंग रोड फाइल में कैद
11 साल पहले भारी वाहनों को शहर के बाहर से निकालने रिंग रोड का प्लान बनाया गया था। 67 फीट चौड़ी यह सड़क कृष्णापुर, भगवानपुर, स्टेट हाइवे 200 को पार करते हुए, कोसमनारा रेलवे लाइन कोतरा रोड, अमलीभौना, सांगीतराई स्टेट हाइवे 216 से होती हुई छातामुड़ा, गढ़उमरिया के रास्ते गुजरने वाली थी। एक हिस्सा झारसुगुड़ा मार्ग से केलो नदी पार, कौहाकुंडा रेलवे लाइन पार से गुजरते हुए बोइरदादर, गोवर्धनपुर, लामीदरहा, आमापाल, भेलवाटिकरा, उर्दना से घरघोड़ा रोड से जोड़ी जानी थी।

बजट पास होने के बाद शुरू होगा निर्माण
"जनप्रतिनिधियों की सभी मांगों को हमने अपने बजट में शामिल कर लिया है। हम लगातार ईएनसी कार्यलय की दौड़ लगा रहे हैं जिले की अधिकतर सड़कों का हमने कवर कर लिया है। बजट अप्रूव होने के बाद आगे का काम भी शुरू किया जाएगा। ''
-आर के खामरा, ईई्, पीडब्ल्यूडी

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें