पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धान पर रार:भाजपा का आरोप धान खरीदी से बचना चाहती है सरकार

रायगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • समिति ने नहीं खरीदा तो किसान ट्रैक्टर पर धान लेकर पहुंचा था कलेक्टोरेट

टारपाली सोसाइटी में धान नहीं खरीदे जाने से नाराज किसान शुक्रवार की रात कलेक्टोरेट पहुंचा था। किसान रातभर यहां डटा रहा। शनिवार सुबह भाजपा नेताओं को इसका पता चला तो ओपी चौधरी समेत जिले के तमाम नेता और कार्यकर्ता किसान के समर्थन में कलेक्टोरेट पहुंचे। इस पर दिनभर राजनीति हुई। कलेक्टर भीम सिंह ने सुबह ही किसान से बात कर ली लेकिन थोड़ी देर में भाजपाई भी वहां पहुंचे। कलेक्टर ने आश्वासन दिया कि जिसकी लापरवाही होगी उस पर कार्रवाई होगी, किसान का धान हर हाल में खरीदा जाएगा।
भाजपाइयों ने भुनाया मौके को-
धान खरीदी, बारदाने की कमी, एफसीआई में चावल नहीं लेने पर कांग्रेस और भाजपा आमने-सामने रही है। धान खरीदी नहीं होने के कारण किसान के कलेक्टोरेट आने की भनक लगते ही भाजपा नेता ओपी, जिला अध्यक्ष उमेश अग्रवाल, आशीष ताम्रकार, विवेक रंजन सिंहा, आलोक सिंह समेत 50 से ज्यादा कार्यकर्ता नारेबाजी करते हुए कलेक्टोरेट पहुंचे। भाजपाइयों ने कहा, अभी कुछ किसान धान नहीं बेच सके हैं ऐसे में खरीदी का समय बढ़ाना चाहिए। भाजपाइयों ने कहा, फर्जी आंकड़ों और कोचियों के भरोसे धान खरीदी को लेकर अपनी ही पीठ थपथपाने वाली सरकार को इस तरफ देखना चाहिए। प्रदेश के साथ जिले में दोनों ही पार्टी के नेता धान खरीदी को लेकर एक दूसरे पर हमला करने का कोई भी अवसर चूकना नहीं चाह रहे हैं।

जांच करने गए अफसरों ने समिति प्रबंधक से कहा: तुम खरीदो और पैसे दो
शनिवार शाम को कलेक्टर ने सहकारिता और खाद्य विभाग के अफसरों से संयुक्त टीम बना कर सोसाइटी में जांच करने के लिए भेजा था । अफसरों को पता चला कि, 25 जनवरी को श्याम लाल धान बेचने के लिए समिति पहुंचे थे। 110 क्विंटल खरीदी के लिए टोकन काटा गया लेकिन 65 क्विंटल धान खरीदा गया। श्याम लाल ने 45 क्विंटल धान बाद में लाने की बात कही। सोसाइटी संचालक दिलीप प्रधान ने उसे शाम 4 बजे तक धान लाने के लिए कहा। श्याम ने 29 जनवरी को धान लाकर देने की बात कही। तारीख बदलने के कारण नया टोकन जरूरी बताया गया और 29 जनवरी को टोकन नहीं होने के कारण खरीदी नहीं हुई। अफसरों ने समिति प्रबंधक से कहा है कि वह खुद पैसा देकर धान खरीदे। समिति प्रबंधक ने धान ले कर किस्तों में रुपए देने की बात कही।

समिति प्रबंधक पर मनमानी का आरोप
कोतरलिया के किसान श्यामलाल गुप्ता ने बताया कि 110 क्विंटल धान खरीदी का टोकन कटा था। 25 जनवरी को 65 टन धान खरीदी हुई किंतु बाकी 45 टन धान की खरीदी नहीं की जा रही थी। समिति के लोग एक ट्रैक्टर पर 500 रुपए का कमीशन मांग रहे थे। जब उन्होंने शुक्रवार को समिति से बाकी धान बेचने के लिए संपर्क किया तो उनका बेटा धान लेकर पहुंचा। समिति के लोगों ने कहा, आप लेट से आए हैं, जहां जाना है जाओ लेकिन धान नहीं लेंगे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें