• Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raigarh
  • Chaitra Navratri Starts From Today, Manokamna Jyot Jalengi, Puja With Distancing In The Temple On The First Day, Will Be Online In Lockdown

आए नवरात्रे माता के:चैत्र नवरात्रि आज से, मनोकामना ज्योत जलेंगी, पहले दिन मंदिर में डिस्टेंसिंग के साथ पूजा, लॉकडाउन में ऑनलाइन होंगे दर्शन

रायगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चैत्र नवरात्र पर इस बार भी दिखेगा लॉकडाउन का असर, पहले दिन ही मंदिर में होंगे दर्शन

मंगलवार से हिंदू नव वर्ष के साथ ही चैत्र नवरात्रि शुरू होगी। पहले दिन ही देवी मंदिरों के पट श्रद्धालुओं के लिए खुलेंगे। कोरोना प्रोटोकॉल के साथ पूजा होगी। श्रद्धालु डिस्टेंसिंग के साथ दर्शन भी कर सकेंगे। बुधवार से जिले में लॉकडाउन है इसके मद्देनजर देवी मंदिर भी बंद रहेंगे।

लॉकडाउन के दौरान सिर्फ पुजारी ही सुबह शाम की पूजा करेंगे। श्रद्धालु देवी के दर्शन ऑनलाइन ही कर सकेंगे। 21 तक नवरात्रि है और लॉकडाउन के कारण इस बार भी लोग घरों में ही देवी की स्थापना कर व्रत व पूजा करेंगे। कोरोना संक्रमण की वजह से इस बार देवी मंदिरों में मनोकामना ज्योत भी कम जलाए जा रहे हैं। अनाथालय स्थित देवी मंदिर में हर साल 600 से ज्यादा ज्योत जलाई जाती रही है लेकिन इस बार 215 मनोकामना ज्योत प्रज्ज्वलित होंगी। मंगलवार को कलश स्थापना और पूजा के बाद श्रद्धालुओं के लिए दर्शन के लिए मंदिर खुला रहेगा। इसके बाद बुधवार से पट सिर्फ पूजा-अर्चना के लिए खोला जाएगा। गेरवानी स्थित बंजारी मंदिर में भी पहले दिन तलाब से जल लाकर कलश की स्थापना की जाएगी, पूजा अर्चना होगी।

कलश यात्रा, सामूहिक भोज, भंडारा, प्रसाद वितरण, कीर्तन- जसगीत जैसे कई आयोजन रद्द किए गए हैं। 1 हजार ज्योत जलाने के लिए श्रद्धालुओं नाम लिखवाया है। लॉकडाउन के कारण सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर बंजारी मंदिर ग्रुप पेज में श्रद्धालु माता के ऑनलाइन दर्शन कर सकेंगे। बुढ़ी माई मंदिर के पट भी लॉकडाउन में बंद रहेंगे। प्रबंधन से जुड़े ज्ञानेन्द्र सिंह गौतम ने बताया कि पहले दिन पूजा पाठ करने और कलश की स्थापना की जाएगी। श्रद्धालु बाहर से ही दर्शन करेंगे, उन्हें मंदिर परिसर में इंट्री नहीं होगी। नवरात्र में श्रद्धालुओं को ऑनलाइन में दर्शन करने के इंतजाम किए जा रहे हैं। यहां मंगलवार सुबह 8 बजे पूजा की जाएगी।

गुरु के राशि परिवर्तन से सभी को लाभ: शर्मा
ज्योतिषाचार्य पं राजेंद्र शर्मा के मुताबिक, 5-6 अप्रैल की रात से गुरु नीच राशि मकर से कुंभ में आ गए हैं। यह परिवर्तन काफी लाभकारी है। 15 अप्रैल से सूर्य भी उच्च राशि मेष में प्रवेश करेगा। इससे नकारात्मकता दूर होगी। आरोग्यता बढ़ेगी।व्यापार व्यवसाय में अच्छे संकेत मिलेंगे। सोना-चांदी की खरीदारी बढ़ेगी। महामारी से काफी राहत मिलने के संकेत हैं।

खबरें और भी हैं...