विश्व दृष्टि दिवस आज:कंप्यूटर, मोबाइल से आंखों को नुकसान: डॉक्टर्स

रायगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राष्ट्रीय अंधत्व एवं अल्प दृष्टि नियंत्रण कार्यक्रम के संबंध हुई कार्यशाला

राष्ट्रीय अंधत्व एवं अल्प दृष्टि नियंत्रण कार्यक्रम अन्तर्गत विश्व दृष्टि दिवस 14 अक्टूबर को रायगढ़ सहित जिले के समस्त विकासखण्डों में मनाया जाएगा। एक दिन पहले बुधवार को कार्यालय के आरोग्यम सभा कक्ष में कार्यशाला हुई, जिसमें कार्यालयीन स्टाफ सहित जिले के नेत्र सहायक अधिकारी एवं नेत्र सर्जन शामिल हुए।

कार्यशाला में सीएमएचओ डॉ.एसएन केशरी ने बताया कि शरीर में किसी भी प्रकार के बीमारी होने पर उसका प्रभाव नेत्र पर पड़ता है। आजकल कम्प्यूटर एवं मोबाईल का इस्तेमाल बच्चों के साथ-साथ समाज के हर उम्र दराज के व्यक्ति कर रहा है, जिससे उनके ऑखो में दृष्टि दोष देखने को मिलता है। डॉ.केशरी ने कहा कि जिले के समस्त माध्यमिक शालाओं में अध्ययनरत समस्त छात्र-छात्राओं का अनिवार्य रूप से नेत्र परीक्षण कराएं और दृष्टि दोष के बच्चों को नि:शुल्क चश्मा उपलब्ध करावें ताकि उन्हें एम्बलायोपिया से बचाया जा सके।

कार्यक्रम में उपस्थित डॉ.मीना पटेल नोडल अधिकारी अंधत्व द्वारा बताया कि वर्ष 2021-22 में विश्व दृष्टि दिवस के विषय (थीम) लव यूअर आई पर जानकारी देते हुये बतलाया गया कि प्रत्येक व्यक्ति को प्रतिदिन सुबह उठकर एवं रात को सोते समय ऑख एवं ऑख के चारों ओर त्वचा को साफ पानी से धोएं, चेहरे को पोंछने के लिए साफ और अपना अलग तौलिया इस्तेमाल करें, धूप और तेज रोशनी से ऑखों को बचायें, अच्छे किस्म के चश्में का उपयोग करें, ऑखों को दुर्घटना से बचाएं जैसे आतिशबाजी, तीर-कमान, गुल्ली-डंडा खेलते सयम सावधानी बरतें, आंखों में कुछ गिरे तो ऑख को मलियें नहीं एवं काफी मात्रा में साफ पानी से ऑख धोकर बाहरी कण को बाहर निकाल दें, पुस्तक को आंखों से डेढ़ फीट की दूरी पर रखकर पढ़ें। चलती बस में, लेटे हुए, बहुत कम प्रकाश में कभी न पढ़ें, इससे आंखो पर जोर पड़ता है।

खबरें और भी हैं...