पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सड़कों पर अंधेरा:48 घंटे में शिकायत दूर करने की है शर्त, कंपनी पांच दिन में भी नहीं सुधार पा रही स्ट्रीट लाइट

रायगढ़7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मेंटेनेंस के लिए 8 मिस्त्री व 8 हेल्पर रखना जरूरी पर अभी 3 कर्मियों के भरोसे है पूरा शहर

शहर की स्ट्रीट लाइट बंद पड़ी है। ईईएसएल कंपनी ने पूरे शहर में एलईडी बल्ब लगाने के बाद 7 साल तक फ्री मेंटेनेंस का दावा किया था। साथ ही शिकायतों पर 48 घंटे में निराकरण की बात कही थी, लेकिन को शिकायतों के निराकरण करने में 6 से 7 दिन लग रहे हैं। इंजीनियर कर्मचारियों की संख्या कम होने की बात कह रहे हैं, तो कंपनी के स्टेट हैड डेढ़ साल से बिल भुगतान नहीं होने से कम कर्मचारियों से काम लेने की बात कह रहे हैं। निगम काम संतोषप्रद नहीं होने की बात कह रहा है, कंपनी और निगम के बीच चल रही इस लड़ाई से शहर के लोगों को अंधेरी सड़कों से गुजरना पड़ रहा है। दैनिक भास्कर ने बुधवार को शहर की पड़ताल की। शहर के अधिकांश सड़कों पर स्ट्रीट लाइटें बंद मिली। सावित्री जिंदल सेतू की सभी लाइटें बंद मिली। टीवी टॉवर रोड पर डिग्री कॉलेज से मेडिकल कॉलेज तक 48 बल्ब बंद मिले। ढिमरापुर से कोतरा रोड बाइपास और उर्दना सड़क की 90 फीसदी लाइटें बंद मिली। वार्ड पार्षदों के 70 से ज्यादा शिकायतें भी पेंडिंग है,जिस पर कंपनी की तरफ से कोई काम नहीं कराया गया है। एेसे में जब भास्कर की टीम ने जिम्मेदार इंजीनियर से बात की तो उन्होंने संसाधन और मैनपॉवर की कमी बताई। निगम के विद्युत विभाग के कर्मचारी कंपनी के पास कर्मचारी नहीं होने के कारण काम प्रभावित होने की बात कही। जब कंपनी के स्टेट हैड वेदप्रकाश से बात की तो उन्होंने बीते डेढ़ साल से पैसे नहीं मिलने के कारण काम मैन पॉवर और संसाधन की कमी बताई। निगम कह रही है कि जितने पैसे कंपनी को दे रहे उतने में निगम इसे बेहतर काम कर करेगी। फिलहाल रायगढ़ समेत 9 निगमों ने कंपनी का काम एग्रीमेंट के अनुरूप नहीं होने की बात कहते हुए स्वयं काम करने की मांग कर चुके हैं। कंपनी के एग्रीमेंट में केबल सटने से होने वाले नुकसान की मरम्मत नहीं करने की बात कही है। इसके लिए निगम ने तीन कर्मचारियों को अलग से नियुक्त कर रखा है। जिनके अनुसार शहर के 90 फीसदी डिवाइडरों के केबल पुराने होकर सड़ चुके हैं। यह केबल विद्युत मंडल की सप्लाई लाइन सटने के कारण (440 वोल्ट) वोल्टेज अचानक बढ़ जाता है। और एक बार में 60 से 70 बल्ब एक बार में उड़ जाते हैं।

टाइमर नहीं कर रहे हैं काम
स्ट्रीट लाइट ऑटोमेटिक चालू और बंद करने के लिए लगाए गए निगम के टाइमर काम नहीं कर रहे हैं। कर्मचारियों ने इसे बदलने के लिए पहले निगम को आवेदन लिख चुका है, लेकिन अबतक इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। यही वजह है कि अधिकांश जगहों पर रात की बजाए दिन में ही स्ट्रीट लाइट चालू रहती है।

कहीं पूरी सड़क अंधेरे में तो कहीं 40 से ज्यादा लाइट बंद

  • ढिमरापुर से कोतरा रोड बाइपास रोड की सभी लाइटें बंद।
  • ढिमरापुर से उर्दना रोड़ के बीच 50 से ज्यादा बल्ब बंद।
  • बोइरदादर से विजयपुर रोड की 30 से ज्यादा बल्ब बंद।
  • जोगीडीपा पुलिया से रामपुर पहाड़ी के बीच की
  • कबीर चौक से काशी राम चौक के बीच की सभी लाइटें बंद।
  • सावित्री जिंदल सेतू की सभी लाइटें बंद।
  • डिग्री कॉलेज से मेडिकल कॉलेज के बीच की 48 लाइट बंद।

एग्रीमेंट के अनुरूप काम नहीं कर रही कंपनी
"कंपनी शुरूआत से ही एग्रीमेंट के अनुरूप काम नहीं कर रही है। इसे लेकर पहले ही हमने शासन को पत्र लिख चुके हैं। रही बात भुगतान की तो इन्हें रायपुर डूडा से निकायों के लिए भुगतान किया जाता है। वर्तमान में जितनी राशि शासन कंपनी को दे रही है, उतनी राशि निकायों को दे काम इससे बेहतर होगा।'' -आशुतोष पांडेय, आयुक्त नगर निगम

सीधी बात
वेदप्रकाश, स्टेट हैड, ईईएसएल

डेढ़ साल से पैसे नहीं मिले कर्मचारी कहां से रखेंगे
सवाल - शहर में स्ट्रीट लाइट मेंटेनेंस का काम कंपनी ठीक तरह से क्यों नहीं करा रही है?
- हम अपनी क्षमता के अनुरूप काम कर रहे है, अभी भी हमारे लोग लगातार काम कर रहे हैं।
सवाल - कंपनी 48 घंटे में शिकायतों के निराकरण का एग्रीमेंट किया है, फिर क्यों 6 दिन ज्यादा लग रहें?
- कंपनी के पास पैसे नहीं हैं, कम मैन पॉवर में हम किसी तरह काम संभालने की कोशिश कर रहे हैं।
सवाल - तो नई भर्तियां क्यों नहीं की जा रही है, शहर को 16 लोगों की जरूरत है, यहां सिर्फ 3 ही काम कर रहे हैं?
- निगम ने डेढ़ साल से एक रुपए भुगतान नहीं किया है,कर्मचारी कहां लाएगें, कंपनी भी फंडिंग नहीं कर रही है।
सवाल - लेकिन कंपनी ने सात सात निशुल्क मेंटेनेंस की बात कही थी, उसका क्या?
- इसी शर्त पर कंपनी ने काम किया था, लेकिन पैसे नहीं लिए थे, प्रत्येक तिमाही बिल भुगतान निगम को करना था अब वो भी नहीं मिल रहा है।
सवाल - शहर में व्यवस्था कैसे दुरूस्त होगी, यहां लोगों को कब राहत मिलेगी?
-निगम पैसे देगी तो काम भी पहले की तरह किया जाएगा, शुरूआत में हमारी व्यवस्था अच्छी थी।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें