ये है जीत का टीका:बधाई... शहर में 100 प्रतिशत हुआ वैक्सीनेशन

रायगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य विभाग व निकाय कर्मी चला रहे हैं डोर-टू-डोर अभियान - Dainik Bhaskar
स्वास्थ्य विभाग व निकाय कर्मी चला रहे हैं डोर-टू-डोर अभियान

रायगढ़ शहर में कोरोना वैक्सीनेशन टारगेट के मुकाबले 100 फीसदी हो गया है। जिले के पांच ब्लॉक रायगढ़, घरघोड़ा, बरमकेला, पुसौर और तमनार में भी शत-प्रतिशत लोगों पात्र लोगों को टीके लग चुके हैं। शहर से लगे लोइंग में भी 95 फीसदी से अधिक टीकाकरण हो चुका है। यहां सोमवार तक टारगेट पूरा हो जाएगा। इसमें हालांकि अधिकांश लोगों को दूसरी डोज लगना बाकी है।

जिले में अब खरसिया, लैलूंगा, धरमजयगढ़ और सारंगढ़ टीकाकरण का लक्ष्य पूरा नहीं हो सका है। सबसे ज्यादा पिछड़ी स्थिति सारंगढ़ की है यहां 76 फीसदी लोगों को ही टीका लगवाया गया है। शहर में 1 लाख 14 हजार 350 लोगों को पहली डोज लगाने का टारगेट था। शनिवार को 825 लोगों को वैक्सीन लगनी थी। शनिवार को स्वास्थ्य विभाग ने 14 सेंटरों के अलावा हर घर- घर टीकाकरण अभियान करके 849 लोगों को टीका लगाया गया। रायगढ़ में वैक्सीनेशन पूरा करने के लिए कलेक्टर भीम सिंह ने कुछ दिनों पहले नगर निगम आयुक्त एस जयवर्धन को टारगेट को पूरा करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम संयुक्त प्रयास करके टीकाकरण को पूरा कराने में लगी हुई थी।

जिले के तीन ब्लॉकों में वैक्सीनेशन को लेकर परेशानी हो रही है। जिसमें खरसिया में बिंजकोट, भूपदेवपुर, हालाहुली, टुरेकेला जैसे 16 गांवों में लोग टीका नहीं लगवाने की जिद पकड़ी हुई है। सारंगढ़ में भी गोडम और हिर्री के इलाके में 15 पंचायतों और नगरीय निकायों में लोग टीका नहीं लगवा रहे हैं। लोइंग में भी तिलगा और तारपाली के अलावा राजपुर और मुकडेगा इलाके से जुड़े 23 गांवों में टीका नहीं लगवा रहे हैं।

इन इलाकों में वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरूक करने और टीके के फायदे को बताने के लिए जिला स्तर के 19 अफसरों की ड्यूटी लगाई गई है। अलग-अलग सेक्टरों में ये सुबह से लेकर शाम तक लोगों के घरों में जाकर टीकाकरण के बारे में बताएंगे। उद्योगों में बाहर से आए कर्मचारी व मजदूरों की निगरानी रखनी पड़ेगी। इन लोगों को टीका पूरी तरह से लग जाए तो कोरोना के तीसरी लहर का खतरा कम होगा।

खबरें और भी हैं...