पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आशीष ठेठवार के हर फेक आईडी में 3 से 4:सनक,18 फेक आईडी बनाकर कोरोना जांच और वैक्सीन को बताता था फर्जीवाड़ा, गिरफ्तार

रायगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना के मरीज और मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। स्वास्थ्य विभाग के साथ ही तमाम एजेंसियां लोगों को लक्षण होने पर जांच कराने और संक्रमण से बचने के लिए लोगों को वैक्सीन लगवाने की सलाह दे रही हैं लेकिन शहर के एक शरारती युवक सोशल मीडिया पर लड़कियों के नाम से बनाई 18 फेक आईडी लगातार कोरोना जांच और वैक्सीन के बारे में दुष्प्रचार कर रहा था। पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

पुलिस ने दरोगापारा के आशीष ठेठवार को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। पिछले कुछ दिनों से रायगढ़ छत्तीसगढ़ नाम से बनी फेसबुक आईडी में लगातार वैक्सीनेशन को लेकर भ्रामक पोस्ट डाली जा रही थी। शिकायत मिलने पर एसपी संतोष सिंह ने साइबर सेल को फेसबुक आईडी ट्रेस करने की जिम्मेदारी दी। साइबर सेल की टीम ने आईपी एड्रेस और उस आईपी एड्रेस पर चलाने वाले मोबाइल नंबरों का पता लगाया। जिसके बाद कोतवाली टीआई मनीष नागर ने अकाउंट होल्डर आरोपी आशीष ठेठवार निवासी दरोगापारा रायगढ़ को हिरासत में लिया। आरोपी के पास से जब्त मोबाइल में 18 अलग-अलग फेसबुक आई-डी एक्टिव थी। मामले में 269, 270 आईपीसी के तहत तथा 151 सीआरपीसी के तहत जेल भेजा गया है। कार्रवाई में प्रधान आरक्षक राजेश पटेल, दुर्गेश सिंह, महिला प्रधान समुंद रनकर (कोतवाली) की सराहनीय भूमिका रही। ऐसे ही कुछ और नामों की शिकायत पर जांच हो रही है। जिसपर जल्द कार्रवाई की बात कही गई है।

पुलिस ने कहा: ऐसे लोगों पर हम नज़र रख रहे हैं, अफवाह फैलाने वाले बचेंगे नहीं

इन नाम से आरोपी ने बनाई है आईडी
रायगढ़ छत्तीसगढ़, मिस्टी पटेल, सुरभि मिश्रा, सुजाता यादव, रिचा यादव, रश्मि साहू, डॉ कविता यादव, डॉ आराधना साहू, सुजाता ठाकुर, नेहा गुप्ता, डॉक्टर निशा, स्वाति यादव, निशा गोपाल,चंचल अग्रवाल। आरोपी ने बताया कि वह पहले महिलाओं के नाम से फेसबुक में आईडी बनाता है। महिला यूजर देख जब ज्यादा लोग जुड़ जाते हैं तब उस आईडी का यूजर नाम चेंज कर देता है।

रायगढ़-छत्तीसगढ़ ग्रुप में 4200 दोस्त
ऐसे ही बनाई गई फेसबुक आईडी रायगढ़-छत्तीसगढ़ में करीब 4200 फ्रेंड हैं। मिष्टी पटेल नाम से बनी आईडी में करीब 2700 लोग फ्रेंड लिस्ट में जुड़े हुए हैं। इसी तरह सभी फेसबुक आईडी में लगभग 3000 से ज्यादा लोग जु़ड़े हैं। अपनी सभी आईडी से आरोपी वैक्सीनेशन को लेकर भ्रामक व तथ्यहीन जानकारियां पोस्ट कर रहा था।

खबरें और भी हैं...