उच्च शिक्षा:90 दिन पढ़ाई नहीं हुई इसलिए दिसंबर नहीं जनवरी में होंगे ऑफलाइन सेमेस्टर एग्जाम, शुरू हुई तैयारी

रायगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहीद नंदकुमार पटेल विश्वविद्यालय से संबद्ध कॉलेजों में परीक्षा की तैयारियां शुरू कर दी गई है। पोस्ट ग्रेजुएशन और ग्रेजुएशन में जो परीक्षाएं सेमेस्टर सिस्टम से होनी है उसे जनवरी के मध्य तक ऑफलाइन कराया जाएगा। यूनिवर्सिटी में 17 से 24 अक्टूबर तक बैठक हुई थी, इसमें यह फैसला लिया गया।

प्रश्न पत्र बनाने और उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन को लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है। दिसंबर से हर विषयों की कमेटी बनी है उसके आधार प्रश्नपत्र बनने शुरू हुए हैं। संक्रमण की वजह इस बार कॉलेजों में पढ़ाई देर से शुरू हुई। शैक्षणिक सत्र के अनुसार परीक्षाएं दिसंबर में ही होनी थीं लेकिन दिसंबर तक पढ़ाई को 90 दिन नहीं पूरे नहीं हुए थे, इतने दिनों की पढ़ाई के बाद ही परीक्षा ली जा सकती है।

अब एग्जाम से पहले सिलेबर पूरा करना होगा। कॉलेजों में लगभग दो साल बाद ऑफलाइन परीक्षाएं होंगी। पोस्ट ग्रेजुएशन की फर्स्ट और थर्ड सेमेस्टर की परीक्षाओं के अलावा डिप्लोमा की भी परीक्षा होनी है। विश्वविद्यालय के पास बायोटेक्नोलॉजी, संगीत, लाइब्रेरी, एमएसडब्ल्यू जैसे चार- पांच विषयों के रेग्यूलर प्रोफेसर नहीं हैं जिससे समितियों की बैठक नहीं हो पाई। कापियों की भी जांच करने के लिए तैयारियां कर ली गई है। 30 सब्जेक्ट्स के तीन-तीन मेम्बर्स बनाए गए हैं। नंदकुमार पटेल विश्वविद्यालय के बाद कॉलेजों में पहली बार एग्जाम ले रही है।

एग्जाम का फीस नहीं बढ़ाई, फार्म अगले हफ्ते से
विश्वविद्यालय ने इस बार परीक्ष शुल्क नहीं बढ़ाया है। अटल विश्वविद्यालय ने 2017-18 में अलग-अलग विषयों के लिए जो शुल्क निर्धारित किया था। उसे ही अभी लागू किया गया है। हालांकि विश्वविद्यालय के अफसरों का कहना है कि इस बार फीस बढ़ाने की तैयारी थी, लेकिन विरोध ना हो इसलिए फीस नहीं बढ़ाई गई है। कॉलेजों में 32 तरह के शुल्क या फीस लगती है।

जनवरी के दूसरे सप्ताह में होंगी परीक्षाएं
कुलपति प्रो. ललित प्रकाश पटेरिया ने बताया कि जनवरी के दूसरे सप्ताह से ऑफलाइन एग्जाम तैयारियां शुरू कर दी गई है। इसमें एग्जाम समितियों की बैठक होने के बाद अब प्रश्न पत्रों को बनाने के साथ मूल्यांकन का काम शुरू कर दिया है।

खबरें और भी हैं...