पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बाहुड़ा यात्रा:भक्तों की गोद में भगवान, काेरोनाकाल में लौटे अपने घर, सोनाभेष में दर्शन देंगे आज

रायगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बाहर पढ़ने वाले बच्चों को मिला बाहुड़ा यात्रा की रस्म अदा करने का मौका
Advertisement
Advertisement

भगवान जगन्नाथ, भैया बलभद्र और बहन सुभद्रा सात दिनों बाद बुधवार को मौसी मां गुंडिचा मंदिर से वापस जगन्नाथ मंदिर लौटे। बच्चे भगवान को वापस उनके घर ले कर आए।  कोरोना संक्रमण की वजह से बाहुड़ा पर्व भी सादगी के साथ मनाया गया।  गांजा चौक में बाहुड़ा यात्रा को लेकर सुबह से तैयारियां की गई थी। शंख और घंटी बजाकर बच्चों और बड़ों ने बारी-बारी से भगवान को उनके मंदिर पर पहुंचाया। गुरुवार को सोना भेष कार्यक्रम होगा। सोना  भेष में भगवान को जगन्नाथ मंदिर में आभूषण पहनाए जाएंगे, पूजा की जाएगी। इसके बाद वे विश्राम करेंगे। इसे देव शयन माना जाता है। देव शयन से देव उठनी एकादशी के बीच मांगलिक कार्य नहीं होंगे। बच्चों को पहली बार शामिल किया- उत्कल सांस्कृतिक सेवा समिति के पदाधिकारी देवेश षड़ंगी ने बताया कि गांजा चौक स्थित गुंडिचा मंदिर से भगवान को राजा पारा स्थित जगन्नाथ मंदिर लाया गया। इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से रथयात्रा नहीं निकाली जा सकती थी। इसे देखते हुए इस बार उत्कल समाज के बच्चे जो दूसरे शहरों में पढ़ते हैं ऐसे बच्चे अभी अपने घर में हैं उन्हें इस यात्रा में शामिल किया गया। पिछले साल तक गांजा चौक, सोनार पारा, चांदनी चौक में भी रथयात्रा निकलती थी। इस बार हर जगह सादगी से रथोत्सव मनाया गया है।

इस बार चातुर्मास पांच महीने का होगा, 25 नवंबर को देवउठनी एकादशी
बुधवार से साधु, संतों का चातुर्मास शुरू हो गया, जो इस बार पांच महीने का होगा। यह संयोग 8 वर्ष के बाद पड़ रहा है। आचार्य अमिताभ मिश्रा ने बताया कि जुलाई देवशयनी एकादशी से 25 नवंबर को देवउठनी एकादशी तक विवाह, मुंडन, कर्ण छेदन जैसे मांगलिक कार्य नहीं होंगे। इस अवधि में पूजा पाठ, व्रत, उपवास और साधना का विशेष महत्व होता है। इस साल श्राद्ध पक्ष 2 से 17 सितंबर को समाप्त हो रहा है। इसके अगले दिन 18 सितंबर से अधिकमास शुरू हो जाएगा, जो 16 अक्टूबर तक चलेगा।  17 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि व्रत रखा जाएगा। 25 नवंबर को देवउठनी एकादशी होगी, जिसके साथ ही चातुर्मास समाप्त होगा।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर कोई विवादित भूमि संबंधी परेशानी चल रही है, तो आज किसी की मध्यस्थता द्वारा हल मिलने की पूरी संभावना है। अपने व्यवहार को सकारात्मक व सहयोगात्मक बनाकर रखें। परिवार व समाज में आपकी मान प्रतिष...

और पढ़ें

Advertisement