पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मानसून:10 साल में सबसे लंबा मानसून, औसत से 10% ज्यादा बारिश, 1520 करोड़ के धान उत्पादन की उम्मीद

रायगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रारंभिक प्रयोग के बाद कृषि विभाग द्वारा प्रति हेक्टेयर 39 क्विंटल उत्पादन का अनुमान, बीते सालों की तुलना में दो क्विंटल तक ज्यादा

10 सालों में पहली बार मानसून ज्यादा लंबा रहा। चार माह के कुल 123 दिनों में 72 दिन बादल झमाझम बरसे और जिले में 10 फीसदी अधिक बारिश हुई। कृषि विभाग के अफसर प्रारंभिक जांच के बाद प्रति हेक्टेयर 39 क्विंटल धान की पैदावार का अनुमान लगा रहे हैं। यानी जिले में 2 लाख 25 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि में कुल 87 लाख क्विंटल धान का उत्पादन होगा। शासन के समर्थन मूल्य 1810 रुपए के हिसाब से इसकी कीमत 15 सौ 20 करोड़ रुपए है। जिले में पिछले साल करीब 94 हजार 200 किसान ने पंजीयन कराया था। इस साल करीब दो हजार किसान ज्यादा होंगे। यानी शासन इन किसानों से प्रति एकड़ 15 क्विंटल व प्रति हेक्टेयर 37 क्विंटल तक धान खरीदेगी। भू-अभिलेख के अनुसार इस खरीफ सीजन में कुल 2 लाख 27 हजार हेक्टेयर कृषि भूमि में धान की फसल लगाई गई थी, लेकिन नदी किनारे बसे गांव में नदी का जल स्तर बढ़ने से करीब 15 हेक्टेयर फसल बर्बाद हुई है। अब कुल 2 लाख 25 हजार 500 हेक्टेयर कृषि भूमि में धान पकने को हैं। कटाई नंवबर से शुरू हो जाएगी।

सिर्फ अगस्त में हुई 28 इंच बारिश
इस साल सीजन का आधा कोटा अगस्त में ही पूरा हो गया था। इस माह में सबसे ज्यादा 28 इंच बारिश हुई है। 27 और 28 अगस्त के बीच 9 इंच बारिश रिकार्ड की गई थी। जबकि इस माह 15 अक्टूबर तक 2.3 इंच, सितंबर में 9.8 इंच, जुलाई में 11.5 इंच और जून में 7.1 इंच बारिश रिकार्ड की गई थी।

जलाशयों में रबी के लिए पर्याप्त पानी स्टोर
बीते सालों की तुलना में 20 अक्टूबर तक जलाशयों की स्थिति भी बेहतर है। इसलिए बार रबी फसल को सिंचाई के लिए पानी की कमी नहीं होगी। अभी केलो डैम में 81 प्रतिशत जलभराव तो खम्हार, पाकुट, केडार और किंकारी जलाशयों में 80 से 92 प्रतिशत तक पानी स्टोर है।

हवा का रुख दक्षिणी से बदलकर पश्चिमी होने के बाद तापमान में गिरावट शुरू - रात में ठंडक बढ़ गई है। रात का तापमान 21 डिग्री दर्ज किया गया। यह इस सीजन में रात का सबसे कम तापमान है। मौसम वैज्ञानिक डॉ एचपी चंद्रा ने बताया कि रविवार से हवा का रूख दक्षिणी से बदल कर पश्चिमी हो गया था। इस कारण तापमान में गिरावट हुई। 24 घंटे में रात के तापमान में औसतन 0.5 डिग्री और 48 घंटे में करीब 2 डिग्री की कमी आई।

प्रयोग में 39 क्विंटल अनुमान
"फसल लगभग पकने को है, कम अवधि वाले धान किसान काटना भी शुरू कर दिए हैं। हमारे प्रारंभिक प्रयोग के अनुसार इस साल प्रति हेक्टेयर 39 क्विंटल धान के उत्पादन का अनुमान है। जोकि बीते सालों की तुलना एक से दो क्विंटल तक अधिक हैं।''
-ललित मोहन भगत, डीडीए कृषि विभाग

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर के बड़े बुजुर्गों की देखभाल व उनका मान-सम्मान करना, आपके भाग्य में वृद्धि करेगा। राजनीतिक संपर्क आपके लिए शुभ अवसर प्रदान करेंगे। आज का दिन विशेष तौर पर महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ है। उनकी ...

और पढ़ें