आरोपियों की खोजबीन शुरू:बदमाशों ने झोपड़ी में लगाई आग, वृद्ध दंपती झुलसे

रायगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कापू के ग्राम चटकपुर में 26 अप्रैल की देर रात खेत में बनी झोपड़ी में अज्ञात बदमाश ने आग लगा दी। फसल और तालाब में मछली की रखवाली के लिए झोपड़ी में लेटे वृद्ध दंपती बुरी तरह झुलस गए। वहीं आग की चपेट में आई पांच बकरियां मर गईं। कापू पुलिस ने अज्ञात आरोपियों की खोजबीन शुरू कर दी है।

चटकपुर गांव के जागेश्वर साय किसान हैं। घर में कृषि संबंधित और कमर्शियल वाहन रखे हुए हैं। वह गांव इसे किराए पर देते हैं। घर के समीप ही तालाब में उन्होंने मछली भी पाली हुई है। जागेश्वर ने पुलिस को बताया कि उनके पिता कंवल साय और मां आशोबाई तालाब किनारे ही रहकर मछली और फसलों की रक्षा रखवाली करते हैं। 26 अप्रैल देर रात अज्ञात लोगों ने झोपड़ी में आग लगा दी। झोपड़ी को जलते देख वे अपने बेटे के साथ पहुंचे और वृद्ध माता-पिता को बाहर निकाला लेकिन तब तक वे बुरी तरह से झुलस चुके थे।

झोपड़ी में बंधी बकरी जल चुकी थी। दंपती को कापू विजयनगर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 15 साल पहले गांव तालाब में मछली मारने पर गांव से निकाला - जागेश्वर के बेटे ने भास्कर को बताया कि उन्हें 15 साल पहले गांव से निकाल दिया गया है। उनके पूर्वजों ने तालाब में मछली मारी थी। इसलिए आज भी वे जब किसी के घर काम करते हैं तो उन्हें जुर्माना देना पड़ता है। कथित सामाजिक बहिष्कार के कारण वे गांव से अलग घर बनाकर रहते हैं।

खबरें और भी हैं...