स्कूली पाठ्यक्रम:कोर्स में बदलाव नहीं, नई शिक्षा नीति दो साल बाद

रायगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

स्कूली पाठ्यक्रम में आने वाले सत्र में कोई बड़ा बदलाव नहीं होगा। जरूरत के हिसाब से कुछ चैप्टर जोड़े जा सकते हैं, लेकिन कोर्स में फेरबदल को फिलहाल टाल दिया गया है। नई शिक्षा नीति 2023 में लागू होगी और उसी समय स्कूली पाठ्यक्रम में बदलाव होगा। उसी समय शिक्षा नीति के अनुसार नया कोर्स लागू किया जाएगा।

विशेषज्ञों का मानना है अगर अभी कोर्स में बदलाव कर दिया तो एक साल बाद ही नई शिक्षा नीति के हिसाब से फिर पाठ्यक्रम में परिवर्तन करना होगा। शिक्षा विभाग के इस फैसले के बाद स्कूली छात्र इस सत्र में जो किताबें पढ़ रहे हैं, अगले सत्र में भी उन्हीं से पढ़ाई कराई जाएगी। सीजी बोर्ड से संबद्ध स्कूलों की किताबें राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद यानी एससीईआरटी तैयार की जाती है।

स्कूली किताबों में क्या नए तथ्य जोड़े जाएंगे? कौन सा पाठ शामिल होगा? कौन सा चैप्टर हटाया जाएगा? कोर्स से संबंधित इस तरह के बदलाव एससीईआरटी के माध्यम से ही तय किया जाता है। अगले साल के लिए किताबें छपाई की प्रक्रिया चल रही है। अफसरों का कहना है 2023 को नई शिक्षा नीति लागू होगी। इस दिशा में कवायद चल रही है। नई शिक्षा नीति लागू होने के बाद कोर्स में बड़े पैमाने पर बदलाव होगा।

खबरें और भी हैं...