पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संक्रमण घटा तो राहत:जिले के छोटे स्टेशनों पर आज से रुकेंगी पैसेंजर ट्रेनें

रायगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रेलवे ने 19 मई को एक आदेश जारी कर रायगढ़ के आसपास के छोटे स्टेशनों में पैसेंजर ट्रेनों के ठहराव को बंद कर दिया था। रविवार से बीआर पैसेंजर का छोटे स्टेशनों में ठहराव शुरू हो गया है। सोमवार से दूसरी लोकल ट्रेनों का ठहराव भी छोटे स्टेशनों पर शुरू कर दिया जाएगा। इससे कम दूरी पर सफर करने वाले यात्रियों को काफी राहत मिलने वाली है।

रेलवे बोर्ड के निर्देशानुसार कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए जिले के अंतर्गत आने वाले झाराडीह, राबर्टसन, भूपदेवपुर, किरोड़ीमलनगर, जामगांव और कोतरलिया स्टेशनों में स्पेशल गाड़ियों के ठहराव को लॉकडाउन तक अस्थायी रूप से बंद किया गया था। लेकिन रायगढ़ में 6 जून को जिला अनलॉक हो गया। लेकिन ट्रेनों के लिए लॉकडाउन जारी रहा। रविवार से बीआर पैसेंजर के साथ छोटे स्टेशनों में ट्रेनों के ठहराव को शुरू किया गया।

सोमवार से सभी लोकल पैसेंजर ट्रेनों का ठहराव रायगढ़ के आसपास छोटे स्टेशनों में शुरू हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि छोटे स्टेशनों में ठहराव बंद होने से लोकल ट्रेनों में भीड़ घट गई थी। छोटे स्टेशनों में ठहराव होने के दूसरे ही दिन बीआर से लगभग 70 से अधिक पैसेंजर रायगढ़ में पहले दिन उतरे। बीआर, जेडी, टिटलागढ़, सहित अन्य लोकल मेमू में छोटे स्टेशन के ही यात्री सफर करते हैं।

प्रदेश में पहला जिला जहां कैंसल हुए थे स्टॉपेज
ट्रेनें बंद करने का फैसला या तो तय रूट पर आय नहीं होने से लिया जाता है या फिर केंद्र सरकार के फैसले पर ऐसा होता है। जिले में कोविड संक्रमण अधिक होने के कारण पहली बार राज्य स्तर पर ट्रेनों को छोटे स्टेशनों पर ठहराव बंद करने की मांग की गई थी। इसके बाद बोर्ड की स्वीकृति मिलने पर ट्रेनों के ठहराव को छोटे स्टेशनों में बंद किया गया था। ये पैसेंजर ट्रेनें जांजगीर और बिलासपुर के छोटे स्टेशनों में रुक रही थी। जबकि बिलासपुर और जांजगीर दोनों जिले भी कंटेनमेंट जोन में थे।

खबरें और भी हैं...