पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पॉजिटिव रहें तो कोविड निगेटिव होंगे:मरीज ज्यादा इसलिए डर, जिले में 9390 लोग हरा चुके हैं कोरोना को, मृत्युदर 1.26 फीसदी

रायगढ़13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रविवार को 934 लोगों ने की रिकवरी, जिले में 2854 जांच में 825 नए संक्रमित मिले, 24 घंटे में 16 ने गंवाई जान - Dainik Bhaskar
रविवार को 934 लोगों ने की रिकवरी, जिले में 2854 जांच में 825 नए संक्रमित मिले, 24 घंटे में 16 ने गंवाई जान
  • समय पर जांच, इलाज और सकारात्मकता से कोरोना पर जीत संभव
  • रविवार को 934 लोगों ने की रिकवरी, जिले में 2854 जांच में 825 नए संक्रमित मिले, 24 घंटे में 16 ने गंवाई जान

रविवार को जिले में 934 लोगों ने कोरोना से रिकवरी की। 1 अप्रैल से अब तक कोरोना के 19589 मामले मिले हैं, सक्रिय संक्रमितों की संख्या 9910 है। डरावने आंकड़ों में भी हिम्मत बंधाने वाली बात यह है 1 अप्रैल से अब तक कोरोना से 8590 लोग घर में रहते हुए और 800 लोगों ने अस्पताल में इलाज कराकर कोरोना को मात दी। रविवार को 825 नए कोरोना संक्रमित मिले। वहीं 24 घंटों में 16 लोगों की मौत हुई।

कोरोना के लगातार बढ़ते मरीज, मौत की रफ्तार सामान्य संक्रमितों और स्वस्थ लोगों को चिंतित कर रही है। कोरोना पूरी तरह जानलेवा नहीं है। बड़ी संख्या में लोग ठीक भी हो रहे हैं। ऑक्सीजन लेवल गिरने और फेफड़ों के संक्रमण के बाद भी लोग कोरोना को हराकर लौट रहे हैं।

कोविड केयर सेंटरों में काम कर रहे डॉक्टर्स कहते हैं कि लक्षण होने से पर समय पर जांच और संक्रमित पाए जाने पर इलाज जल्दी शुरू कराने के साथ ही सकारात्मक सोच से लोग इस महामारी को हरा सकते हैं। कई ऐसे लोग हैं जहां परिवार के सभी सदस्य संक्रमित हुए। गंभीर भी हुए लेकिन अस्पताल पहुंचकर इलाज करा कर जंग जीत ली ।

पति-पत्नी संक्रमित, 16 दिन बाद ठीक हुए

धौराभाठा डभरा के गजानन साहू (53) को 15 अप्रैल को पॉजिटिव आने के बाद धौराभाठा के कोविड सेंटर में रखा गया है । ऑक्सीजन लेवल 80 से नीचे गिरा तो उन्हें 18 अप्रैल को मेडिकल कॉलेज यूनिट में भर्ती कराया गया। गजानन की पत्नी गायत्री को भी यहां भर्ती कराया गया।

गजानन का सीटी स्कैन कराया तो सीवियरिटी स्कोर भी 15 बताया गया। आमतौर पर इसे गंभीर संक्रमण माना जाता है और ऐसे लोगों को डॉक्टर्स की निगरानी में इलाज करना पड़ता है। गजानन ने बताया कि लंग्स में गंभीर इंफेक्शन के कारण उन्हें रेमडेसिविर इंजेक्शन दिया गया। 16 दिन बाद रविवार को उन्हें डिस्चार्ज किया गया है। अब उनका ऑक्सीजन लेवल 96 से 98 के बीच है।

सभी संक्रमित, समय पर पहुंचा अस्पताल

सरिया के भरत अग्रवाल (62) का ऑक्सीजन सेचुरेशन लेवल 82 तक गिर गया। कमजोरी, थकान, बुखार और सांस लेने में दिक्कत थी। डॉक्टर के पास गए तो कोविड जांच की सलाह दी। जांच कराने पर रिपोर्ट पॉजिटिव आई । फेफड़े में संक्रमण भी था । तुरंत अस्पताल में भर्ती हो गए। घर में बच्चों और बड़ों सभी की जांच कराई गई।

परिवार में पांच लोग संक्रमित पाए गए। छोटे बेटे के अलावा बाकी लोग होम आइसोलेशन में रहे। समय पर अस्पताल में भर्ती होने का भरत को फायदा हुआ। उन्होंने छह दिनों में ही रिकवर कर लिया। शरीर में खून की कमी पाई गई तो डॉक्टरों ने खून भी चढ़वाया। भरत कहते हैं वे सकारात्मक रहे और आखिर में रिकवर हुए।

केआईटी में बढ़ाए थे बेड फिर फुल हुए केआईटी में शनिवार को ऑक्सीजन बेड की संख्या बढ़ाकर 200 की गई थी लेकिन रविवार को सारे बेड्स फुल हो गए। यहां 200 ऑक्सीजन बेड के अलावा 200 बिना लक्षण के मरीजों को रखा गया है। इस जगह 100 बेड एक- दो दिन के भीतर तैयार कर लिए जाएंगे। संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही मौत का भी आंकड़ा कम नहीं हो रहा है। रविवार को दो शिक्षकों की मौत कोरोना से हो गई है। नटवर स्कूल का 46 वर्षीय शिक्षक रविवार को इलाज कराने के दौरान ही फोर्टिस जिंदल हॉस्पिटल में मौत हुई है। कांसीचुआं की अंग्रेजी विषय की 30 वर्षीय शिक्षिका की मौत कोरोना से हुई है, शिक्षिका की कुछ दिन पहले ही रायगढ़ ब्लॉक में पदस्थापना हुई थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें