पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लापरवाही:हाेम आइसाेलेशन में मरीजाें की न हाे रही जांच और ना ही मिल रही दवा, कोरोना संक्रमितों की बढ़ी परेशानी

रायगढ़3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में काेराेना के संक्रमित मरीज दिन पर दिन बढ़ते जा रहे है। इसके बावजूद हाेम आइसाेलेशन में रहने वाले मरीजाें की काेई सुध लेने वाला नहीं है। जांच हाेने के तीन से चार दिन बीतने के बाद न ताे जांच की गई, न किसी ने उन्हें दवा दी। आखिर वह संक्रमण से किस तरह लड़ाई लड़े। काेराेना के 1637 एक्टिव मरीज है, जिसमें से 1088 मरीज हाेम आइसाेलेशन में है, जबकि 549 लाेग ही अस्पताल में भर्ती है। घर पर रखे गए मरीजाें की देखरेख, समय से जांच और उन तक दवा पहुंचाने की जिम्मेदारी स्वास्थ्य प्रशासन की है, लेकिन मरीजाें की अपनी अलग व्यथा है। मरीज कहते है कि पाॅजिटिव आने के बाद कभी किसी ने कभी किसी ने फाेन कर पता और घर के सदस्याें के बीमार हाेने के बारे में पूछा, लेकिन चार दिन बीतने के बाद भी काेई दवा देने नहीं आया है। इनमें सर्दी खांसी व बुखार के लक्षण थे, वे स्वयं निजी चिकित्सकाें से सलाह ली और दवा ले रहे है, लेकिन सबसे ज्यादा परेशानी उन्हें हाे रही है जाे घराें पर अकेले या फिर उन्हें पहले से उन्हें काेइर् बीमारी है। सीएमएचओ डा. एसएन केशरी ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीमें निगरानी कर रही है। मरीजाें की समस्या के लिए कंट्राेल रूम बनाया गया है। उसके नंबर जारी किए गए है, जिसे समस्या हाे वह चिकित्सकीय सलाह ले सकते है।

हाेम आइसाेलेशन के मरीज को देनी है यह व्यवस्था

  • मरीज की पल्सरेट, आक्सीजन के तापमान चेक करना
  • जांच के बाद डाक्टराें द्वारा संक्रमित व्यक्ति काे जरूरी दवाएं देना
  • मरीज की देखभाल करने वाले तथा घर पर रहने वाले सभी सदस्याें काे हाइड्राेक्सी क्लाेराेक्वीन आदि दवा देना
  • आइसाेलेशन में रहने के दाैरान अलग रहने, बाथरूम, टायलेट की व्यवस्था
  • कंट्राेल रूम तथा निगरानी टीम द्वारा माॅनिटरिंग करना

परेशानी: जांच ताे दूर दवाई तक नहीं मिली
बाेईरदादार में रहने वाले 40 वर्षीय युवक ने बताया कि 13 सितंबर की शाम काे उन्हें काेराेना हाेने की जानकारी मिली थी। स्वास्थ्य विभाग से उन्हें दूसरे दिन दाेपहर में फाेन आया कि घर पर कितने लाेग रहते है, और लक्षण पूछे। लक्षण जानने के बाद बुधवार दाेपहर तक किसी का फाेन नहीं आया और नहीं किसी ने जांच करना ताे दूर शासन के निर्देश पर जाे दवा दी जाने वाली थी उसे भी नहीं देने आए।

पाॅजिटिव आने पर घर के बाहर मात्र पर्चा लगाए
केलाे बिहार में रहने वाले एक शख्स ने बताया कि उसके घर पर दाे लाेग संक्रमित मिले थे। घर के लाेगाें में किसी भी तरह में संक्रमण के लक्षण नहीं है। रिपाेर्ट पाॅजिटिव आने के दाे दिन बाद एक व्यक्ति घर के बाहर काेराेना हाेने की जानकारी का पांप्लेट लगाकर चला गया। इसके बाद से आज तक किसी ने स्वास्थ्य के बारे में जानकारी नहीं ली। वह सभी आयुर्वेद के नुख्शे अपना रहे है।

हजार लोग आइसोलेशन में घरों से नहीं उठ रहा कचरा
शहर में कोरोना संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। जिन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और जो लोग बिना लक्षण के है, वे होम आइसोलेशन में रह रहे है। स्वास्थ्य विभाग के जानकारी के अनुसार 1 हजार से ज्यादा संक्रमित होम आइसोलेशन में है, लेकिन होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों के घरो निकलने वाले कचरे के डिस्पोज के लिए कोई ठोस इंतजाम नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने जो गाइलाइन भेजी है, उसमें नगर निगम को मेडिकल वेस्ट के डिस्पोजल की व्यवस्था बनाने के लिए इंतजाम करने के निर्देश दिए थे। इसमें दो-तीन में कचरे को इकट्‌ठा करके उसे डीप बेरियल सिस्टम से (गड्‌ढ़ा में डिस्पोज करना है) कचरा डिस्पोज करने के लिए कहा है। स्वास्थ्य विभाग ने होम आइसोलेशन से निकलने वाले कचरे को डिस्पोज करने के लिए सभी नगरीय निकायों, पर्यावरण विभाग को इसे भेजा है। मामले में स्वास्थ्य और नगर निगम के अधिकारियों कहना हैं कि यह आने दो- तीन दिनों के भीतर ही इसकी प्लानिंग की जाएगी।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें