कार्रवाई / बेटे की ट्रैवल हिस्ट्री छिपाने और उसे घर में रखने वाले पंचायत कर्मी पर जुर्म दर्ज

Penalty registered on Panchayat personnel hiding son's travel history and keeping him at home
X
Penalty registered on Panchayat personnel hiding son's travel history and keeping him at home

  • मेरा बेटा क्वारेंटाइन में नहीं रहेगा, कहने वाले पर कार्रवाई

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 07:42 AM IST

रायगढ़. दिल्ली से लौटे बेटे की जानकारी स्थानीय प्रशासन को नहीं देने और क्वारेंटाइन किए जाने की सलाह के बाद भी जबरन घर में रखने के कारण पुलिस ने जनपद पंचायत बरमकेला के लिपिक के विरूद्ध एफआईआर की है। पुलिस लिपिक को जल्द गिरफ्तार किए जाने की बात भी कह रही है। भास्कर ने 30 मई के अंक में इस लापरवाही और मनमानी पर खबर प्रकाशित की थी।  
जनपद पंचायत बरमकेला में सहायक ग्रेड 2 के पद पर पदस्थ लिपिक (कोरोना पॉजिटिव मरीज की पहचान न हो इसलिए उसके आरोपी पिता का नाम नहीं लिख रहे हैं) का बेटा 17 मई को दिल्ली से बिलासपुर तक ट्रेन से आया था। जिसके बाद उसे एक रिश्तेदार के माध्यम से मोटरसाइकिल से गांव तक लाया गया था। गांव आने पर उसे क्वारेंटाइन सेंटर में रखने की बात कही गई थी। इस पर उसके लिपिक पिता ने बेटे को क्वारेंटाइन सेंटर में रखने से मना कर दिया था। तीसरे दिन जब बरमकेला बीएमओ ने जांच कराने के लिए सैंपल लेकर भेजा तो उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई। ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को बताया कि उसके बेटे से मिलने लोग उसके घर जाते थे। गांव के लोगों ने तो भास्कर को यह भी बताया कि क्वारेंटाइन किए जाने के बाद लिपिक ने अपने छोटे बेटे को भी साथ क्वारेंटाइन सेंटर दिया था। जिसने बाद में सेलून में कटिंग कराई और दुकानों से सामान भी खरीदा। ग्रामीणों ने पूरे मामले की जानकारी तहसीलदार बरमकेला को दी थी। तहसीलदार ने अपनी रिपोर्ट जिला प्रशासन को भेज कर बताया कि एडवाइजरी के विपरीत नियमित रूप से कार्यालय जनपद पंचायत आता रहा और नियमों का जानबूझ कर उल्लंघन कराया। तहसीलदार बरमकेला के प्रतिवेदन पर सोमवार को थाना बरमकेला में लिपिक के विरुद्ध धारा 188, 269, 270 आईपीसी के तहत अपराध दर्ज किया गया है। थाना प्रभारी बरमकेला ने बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी कर जेल भेजने की कार्रवाई की जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना