कोविड जांच:कोविड टेस्ट सेंटर में लोग धूप में जांच कराने मजबूर

राजगांगपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड जांच केंद्र में अपनी बारी आने का इंतजार करते लोग। - Dainik Bhaskar
कोविड जांच केंद्र में अपनी बारी आने का इंतजार करते लोग।
  • सेंटर में न शेड और ना ही शुद्ध पानी की व्यवस्था, दूरदराज क्षेत्र से आए लोगों को होती है परेशानी

प्रदेश में कोरोना से 5 से 6 हजार मरीज प्रतिदिन मिल रहे हैं। जिसे रोकने के जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह डटे हुए है। ऐसे में कोरोना काल में संक्रमण के भय से लोगों में डर का माहौल है कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर प्रशासन की ओर से राजगांगपुर सरकारी अस्पताल में कोविड जांच की जा रही है।

लोग घंटों धूप में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार करते हुए नजर आए थे । जिस स्थान पर कोविड जांच की जा रही है उस स्थान पर ना कोई शेड की व्यवस्था,ना ही पेयजल की व्यवस्था है और ना ही बैठने की व्यवस्था है । प्रशासन की ओर से कोई भी व्यवस्था नहीं होने के कारण लोग मजबूरन धूप में प्यासे खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। लेकिन उसके बाद भी प्रशासन की नींद नहीं खुली ना ही कोविड जांच के लिए आने वाले लोगों के लिए कोई भी सुविधा उपलब्ध कराने के सार्थक प्रयास किया गया । जैसे ही इसकी खबर शहर के समाजसेवियों को लगी।

विभिन्न संस्थाओं के साथ कंपनी कोविड जांच के आने जाने वाले लोगों के लिए सुविधा उपलब्ध कराई इस कड़ी में शहर की सुप्रसिद्ध संस्था राजगांगपुर वरियर्स के राजेश गुप्ता उर्फ बबलू ने बुधवार से पेयजल की सुचारू व्यवस्था करवाने में सहयोग किया। वहीं डालमिया सीमेंट कंपनी की ओर एक शामियाना लगाया गया और लोगों को धूप से बचने के लिए राहत पहुंचाने का कार्य किया गया। वहीं शहर के विकास परिषद की ओर से जांच के लिए आने वाले लोगों के लिए बैठने के लिए कुर्सी की सुविधा उपलब्ध कराई गई ।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते जिले में ऑक्सीजन की मांग एकाएक बढ़ गई। वहीं दूसरी ओर इस मांग और कमी को पूरी करने के लिए ,राजगांगपुर वरियर्स की टीम , मारवाड़ी महिला मंच एवं मारवाड़ी युवा मंच की ओर से ऑक्सीजन सिलेंडर की सेवा शुरू की है । नेशनल ह्यूमन राइट्स ने सबसे पहले ये सुविधा उपलब्ध कराने में सहयोग किया, वहीं दूसरी ओर संस्थाओं द्वारा अपील की है और आवश्यक और जरूराी समय में संस्था से संपर्क साधने की कोशिश करें।

खबरें और भी हैं...