बाढ़ का असर बरकरार:5 गांवों के लोगों का राहत शिविर में जाने से इंकार, सामुदायिक भवन में रखा गया

रायगढ़5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बुधवार को पुसौर में प्रभावित गांवों में पानी कम हो गया, लेकिन वहां पर लोगों राहत शिविर में ही रखा गया है। - Dainik Bhaskar
बुधवार को पुसौर में प्रभावित गांवों में पानी कम हो गया, लेकिन वहां पर लोगों राहत शिविर में ही रखा गया है।

महानदी प्रभावित इलाकों में सरिया, सारंगढ़, पुसौर इलाकों के गांवों में पानी स्तर कुछ कम हुआ है, लेकिन अभी तक स्थिति नियंत्रण में नहीं हो सकी है। बुधवार को पुसौर में प्रभावित गांवों में पानी कम हो गया, लेकिन वहां पर लोगों राहत शिविर में ही रखा गया है। मंगलवार की रात को समोदा बांध से फिर पानी छोड़ा गया था, लेकिन बुधवार को हीराकुद डेम के 40 गेट खोले जाने के बाद पानी ओडिशा की तरफ जाने से यहां स्थिति नियंत्रण में आई है। बुधवार शाम को नदी में जल स्तर कम हो रहा है।

हालांकि अभी 29 गांवों प्रभावित है, जिसमें सात जगहों राहत शिविर लगाए गए है। जब तक गांवों में पूरा पानी नहीं चला जाता है तब तक लोगों को गांव वापस नहीं भेजा जाएगा। इधर पांच गांवों के लोगों ने अपने बस्ती नहीं निकले तो वही बनाना पड़ा राहत शिविर- इधर सरिया के रानीडीह, पोरथ, नंदीगांव जैसे आसपास के गांवों में लोग अपने बस्ती या गांवों निकलकर के कही बाहर राहत शिविर में जाने से साफ मना कर दिया। यह सारे लोग रोजमर्रा मजदूरी करने वाले लोग है। उन्हें सुरक्षित जगह उन्हीं गांवों में ही सामुदायिक भवनों में ही रखा गया है।

मंगलवार को सूखा भोजन भी नहीं था, वहां पर एनडीआरएफ की टीम के साथ खाद निरीक्षकों ने उन्हें राशन पहुंचाया है। एनडीआरएफ की टीम ही उनपर नजर बना करके रखे हुए है। हालांकि वहां पर एसडीआरएफ और बाढ़ नियंत्रण दल तैनात किया गया है।

आज से फिर बारिश हाेने की संभावना जताई
गुरुवार से फिर बारिश होने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग के विशेषज्ञ डॉ एचपी चन्द्रा ने बताया कि मानसून द्रोणिका माध्य समुद्र तल पर दक्षिण-पश्चिम राजस्थान में स्थित है। यह राजस्थान से ले कर मध्यप्रदेश और पश्चिम बंगाल तक फैला हुआ है। ऐसे में गुरुवार से बारिश हाेने के बाद शुक्रवार को भी अच्छी बारिश हाेने का अनुमान है। इसका असर पूरे प्रदेश पर रहेगा।

सारंगढ़ में 208 और सरिया में 2780 मकानों को आंशिक क्षति
लगातार बारिश होने के बाद सरिया, सारंगढ़ और घरघोड़ा में नुकसान हुआ है। सरिया, सारंगढ़ में बाढ़ प्रभावित इलाकों में नुकसान की प्रारंभिक रिपोर्ट आई है, सारंगढ़ में आंशिक रूप से 208 और पूर्ण रूप से 44 मकानों में क्षति की रिपोर्ट आई है। 124 हेक्टेयर पर फसल खराब हुई है। सरिया में आंशिक रूप से मकान की क्षति 2780 और पूर्ण 129 और फसल क्षति 517 हेक्टेयर फसल नुकसान होने की बात सामने आई है। घरघोड़ा में भी आंशिक रूप से 4 और पूर्ण रुप से 29 मकानों की क्षति हुई है।
सर्वे के कार्य में आरआई, पटवारियों को लगाया गया है।

खबरें और भी हैं...