पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कार्रवाई:20 तक न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया दुष्कर्म का आरोपी पुलिस इंस्पेक्टर

रायगढ़/जशपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 15 अक्टूबर को रायगढ़ कोर्ट में सरेंडर करने के बाद एक दिन की पुलिस रिमांड पर था आरोपी, अंतिम पहर में कोर्ट में किया सरेंडर, नहीं मिली जमानत
  • एक साल से फरार था आरोपी, कोर्ट में अंतिम पहर में किया समर्पण।

पत्थलगांव थाने के पूर्व थानेदार ओमप्रकाश ध्रुव ने कोतवाली थाने में दुष्कर्म का मामला दर्ज होने के लगभग एक साल बाद कोर्ट में सरेंडर कर दिया। 15 अक्टूबर को गुपचुप तरीके से ध्रुव ने पहले कोर्ट में सरेंडर कर अपने वकील के माध्यम से जमानत की अर्जी लगाई। आवेदन निरस्त होने के बाद पुलिस ने उसे एक दिन की रिमांड पर लिया। 16 अक्टूबर को कोर्ट ने उसे 20 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। अक्टूबर 2019 में 33 वर्षीय एक आदिवासी महिला ने कोतवाली थाने में पुलिस इंस्पेक्टर ओमप्रकाश ध्रुव के खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत की थी। अपराध क्रमांक 1064/2019, धारा 376 के तहत कोतवाली थाने में मामला दर्ज किया गया था। महिला ने बताया था कि ध्रुव से उसकी पहचान दिसंबर 2017 में कांसाबेल में हुई थी। ध्रुव तब वहां थानेदार थे। जानकारी के मुताबिक पीड़ित महिला एक बच्चे की मां है। महिला ने बताया था कि ध्रुव ने उससे शादी करने की बात कही और अगस्त 2019 तक रायगढ़ के एक होटल में बुलाकर संबंध बनाते रहे। महिला ने शादी का दबाव बनाया तो अगस्त 2019 की शुरुआत में ध्रुव उसके घर गए और बात की। ध्रुव ने शादी से इनकार किया और सबकुछ भूल जाने के लिए कहा। ऐसे में खुद को ठगा महसूस कर रही महिला ने अक्टूबर 2019 में कोतवाली थाने में शिकायत की और पुलिस मुख्यालय को भी शिकायत भेजी। डीजीपी ने रायगढ़ एसपी को मामले की जांच करने के लिए कहा। मामले में दोषी पाए जाने पर उनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया । जशपुर एसपी ने इंस्पेक्टर ध्रुव को पत्थलगांव से हटाकर जशपुर मुख्यालय में लाइन हाजिर कर दिया। अब गिरफ्तारी के बाद उनकी मुश्किलों और बढ़ सकती है। गुपचुप तरीके से सरेंडर का मामला सोशल साइट पर छाया हुआ है।

सरेंडर करने की किसी को नहीं लगने दी भनक
अपराध दर्ज होने के लगभग एक साल बाद इंस्पेक्टर ओमप्रकाश ध्रुव चुपचाप कोर्ट पहुंचे और सरेंडर किया। उसकी तरफ से अधिवक्ता सुनील ठाकुर ने न्यायिक दंडाधिकारी अंशुल वर्मा की कोर्ट में जमानत अर्जी लगाई। कोर्ट ने अर्जी नामंजूर की। कोतवाली पुलिस ने ध्रुव की एक दिन की रिमांड मांगी। 15 को रिमांड पर रखने और पूछताछ किए जाने की भी कोतवाली पुलिस ने मीडिया को भनक नहीं लगने दी। 16 अक्टूबर को ध्रुव को कोर्ट में पेश किया गया। यहां से उसे 20 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया। इस विषय पर कोतवाली पुलिस समेत तमाम अफसर जानकारी नहीं होने की बात कहते रहे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपनी दिनचर्या को संतुलित तथा व्यवस्थित बनाकर रखें, जिससे अधिकतर काम समय पर पूरे होते जाएंगे। विद्यार्थियों तथा युवाओं को इंटरव्यू व करियर संबंधी परीक्षा में सफलता की पूरी संभावना है। इसलिए...

और पढ़ें