कॉपीराइट एक्ट के तहत एफआईआर:3 कपड़ा दुकानों पर छापा, कम दामों पर बेच रहे थे नकली जींस व टी शर्ट

रायगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कंपनी के ब्रांड का नकली माल बेचने पर कॉपीराइट एक्ट के तहत एफआईआर

संजय कॉम्प्लेक्स के दो और चूड़ी गोदाम में एक कपड़ा दुकान पर शनिवार शाम कोतवाली पुलिस ने कार्रवाई की। तीन दुकानदार दिल्ली के स्पार्की इंडिया नामक गारमेंट कम्पनी का नकली माल बेचते पाए गए। कंपनी के कानूनी सलाहकार की शिकायत पर कॉपीराइट एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है।

जेके जैन स्पार्की इंडिया नामक कंपनी के लीगल एडवाइजर जुगल किशोर आहूजा ने कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कर बताया कि संजय कॉम्प्लेक्स स्थित दुकान पप्पू गारमेंट्स के संचालक द्वारा कंपनी के नकली प्रोडक्ट्स बेचे जा रहे हैं। दिल्ली में कंपनी को नकली माल बेचे जाने की शिकायत मिली थी जिसके बाद जुगल ने शनिवार की शाम पप्पू गारमेंट्स जाकर कपड़ों की जांच की। संचालक यह नहीं बता पाया कि उसने स्पार्की के कपड़े कहां से खरीदे हैं। कपड़ों पर लगे बारकोड और फोटो लेकर जुगल ने कंपनी भेजा।

कोतवाली पुलिस ने दुकानों पर छापे मारकर जांच की और फिर एफआईआर दर्ज की गई। इसके साथ ही संजय काम्प्लेक्स में ही दूसरी दुकान प्रकाश गारमेंट्स में भी कंपनी का नकली माल मिला। इसके संचालक प्रकाश सिंह के विरुद्ध भी कॉपीराइट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। चूड़ी गोदाम में कैलाश होजरी के कैलाश अम्बवानी के खिलाफ भी कॉपीराइट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

कंपनी के जुगल ने पुलिस को बताया कि कंपनी की बिना अनुमति के उनके रजिस्टर्ड ब्रांड के नाम पर उत्पाद बेचे जा रहे हैं। जींस पैंट के साथ टी शर्ट, शर्ट नकली पाए गए हैं। उल्लेखनीय है कि जिले में सेल और सस्ते के नाम पर बड़े पैमाने पर नकली ब्रांड्स खपाए जाते हैं। बड़ी कंपनी के शर्ट, पैंट और जींस पर ओरिजिनल दिखने वाला टैग लगाकर बारकोड लगा दिया जाता है। सेल के नाम पर बड़ी कंपनियों से रिजेक्ट हो चुके कपड़े नया टैग लगाकर भी बेचे जाते हैं।

खबरें और भी हैं...