ठगी का मामला:रेलवे की महिला पोर्टर ने नौकरी दिलाने के नाम पर ठगे 4 लाख

रायगढ़16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रेलवे में गैंगमैन की पत्नी से रेलवे में पोर्टर का काम करने वाली एक महिला ने चार लाख रुपए ठग लिए। शिकायत के बाद पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया और शनिवार को उसे गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक रेलवे कॉलोनी की मंजू मानिकपुरी ने थाने में शिकायत दी थी। उसने बताया कि उसके पति रेलवे में गैंगमैन की नौकरी पर हैं। दिमागी हालत ठीक नहीं होने के कारण वे कई दिनों से ड्यूटी पर नहीं जा रहे हैं। मंजू चाहती थी कि पति की नौकरी उसे मिल जाए ताकि परिवार का भरण पोषण आसानी से हो सके।

इस बात की चर्चा उसने पड़ोसन ममता यादव से की है। रेलवे में पोर्टर ममता ने मंजू से कहा कि वह ये काम आसानी से करा देगी। मंजू ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया चक्रधरनगर शाखा से 6 लाख रुपए का लोन लिया, जिसमें गारंटर भी ममता यादव ही थी। परिचितों के सामने ही उसने 4 लाख रुपए ममता को दिए।

कई दिन गुजर गए। इसी बीच मंजू के पति का स्वास्थ्य ठीक हुआ और वे ड्यूटी पर जाने लगे। मंजू ने ममता से 4 लाख रुपए वापस मांगे। मंजू ने कहा कि वो रुपए नहीं लौटा सकती है क्योंकि नौकरी के नाम पर उसने अफसरों को रुपए दे दिए हैं। कुछ दिन तगादा करने के बाद उसने कोतवाली आकर शिकायत की। कोतवाली पुलिस ने शनिवार को ममता यादव (38) साल को धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया। पुलिस के मुताबिक आरोपी महिला ने पूछताछ में रुपए लेने की बात मानी है। उसे रिमांड पर जेल भेजा गया है।

खबरें और भी हैं...