पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

12वीं बोर्ड परीक्षा:जो उत्तर किताब में नहीं मिले, दोस्तों की मदद से लिखे

रायगढ़6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुत्री शाला में उत्तर का मिलाने करते छात्राएं। - Dainik Bhaskar
पुत्री शाला में उत्तर का मिलाने करते छात्राएं।
  • 12वीं बोर्ड परीक्षा की उत्तरपुस्तिकाएं 10 जून तक सेंटरों में होंगी जमा, कोरोना के कारण घर से ही दी परीक्षा

बारहवीं बोर्ड की घरबैठ परीक्षा पूरी हो चुकी है । रविवार से सेंटरों में स्टूडेंट्स कॉपियां लेकर पहुंचने लगे हैं। कॉपी जमा करने के लिए 10 जून तक समय दिया गया है। पहले दिन उत्तरपुस्तिका लेकर सेंटर पहुंचे बच्चे कॉपियों का मिलान करते रहे। सेंटर पर तैनात शिक्षकों ने बताया कि ज्यादातर स्टूडेंट्स ने सारे प्रश्नों के उत्तर दिए हैं।

रविवार को पुत्री शाला, नटवर स्कूल, बाल मंदिर जैसे स्कूलों में सुबह से ही स्टूडेंट्स आंसरशीट जमा करने पहुंचे थे।म्युनिसिपल स्कूल और पुत्रीशाला स्कूल में भीड़ ज्यादा थी। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार स्टूडेंट्स ने घर बैठे ही बोर्ड परीक्षा दी। 1 से 5 जून तक पर्चे और उत्तरपुस्तिकाओं का पैकेट सेंटरों से दिया गया था। रविवार को बड़ी संख्या में स्टूडेंट्स सेंटरों में पहुंचे। देर तक एक दूसरी की उत्तरपुस्तिका देकर सही-गलत उत्तर का मिलान और काटछांट करते रहे। अकाउंट्स और मैथ्स के कठिन सवालों का उत्तर एक दूसरे की सहायता से स्टूडेंट्स ने सुधार लिया।

थोड़ी दिक्कत तो हुई सवाल हल करने में
नटवर स्कूल के गणित संकाय के स्टूडेंट्स ने बताया कि फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स के कुछ सवाल हल नहीं हो रहे थे। दोस्तों की मदद लेकर उसे सॉल्व किया। बाल मंदिर की एक छात्रा ने बताया कि अकाउंट्स में थोड़ी दिक्कत आई। कुछ उत्तर पुस्तक देखकर लिख लिए और कुछ सहेलियों की मदद से लिखे।

इस बार बेहतर रिजल्ट की उम्मीद
एक छात्रा ने बताया कि अंग्रेजी ग्रामर में थोड़ी परेशानी आई। बाकी प्रश्न सिलेबस से थे तो ज्यादा मुश्किल नहीं हुई। दसवीं बोर्ड में 70 फीसद अंक मिले थे इस बार उम्मीद है कि 90 प्रतिशत से अधिक मार्क्स मिलेंगे।

खबरें और भी हैं...