महिला ने खुदकुशी की:परिजन बोले रोजगार सहायक ने हत्या कर टांगा शव

रायगढ़20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लैलूंगा 30 अक्टूबर को संतोषी यादव नाम की मनरेगा महिला मजदूर ने लैलूंगा के पोकडेगा में फांसी लगा ली थी। पुलिस ने इस पर मर्ग कायम कर लिया था, अब परिजन के साथ गांव के लोगों ने एसपी को ज्ञापन सौंपा है जिसमें रोजगार सहायक पर हत्या का आरोप लगाया गया है। लोगों ने निष्पक्ष जांच कर दोषी को दंड दिए जाने की मांग की है।

30 अक्टूबर को पोकडेगा के रोजगार सहायक के घर शादीशुदा महिला ने फांसी लगा ली थी। ग्रामीणों ने बताया कि पोतरा की संतोषी यादव की शादी पोकडेगा हुई थी। उसे दो बच्चे भी थे। यहां मनरेगा में काम करने के दौरान रोजगार सहायक करमसाय चौहान से उसकी पहचान हो गई। दोनों में प्रेम संबंध बने। करमसाय भी शादीशुदा है। उसके भी दो बच्चे हैं। करम ने उसे शादी का भरोसा दिलाया और फिर उसे दूसरी पत्नी बनाकर अपने परिवार के साथ ही रख लिया। कुछ दिन में ही करमसाय और संतोषी के बीच झगड़ा होने लगा। 29 सितंबर को संतोषी ने अपने परिचितों को चोट के निशान दिखाए थे। 30 सितंबर को वह अचानक करमसाय के घर में ही फांसी पर झूलती मिली। पुलिस ने जांच की और फांसी मानकर मर्ग कायम कर लिया। परिजन के साथ ही गांव वालों को पता चला तो उन्होंने जांच की मांग की। घटना के पांच दिन बाद पोकडेगा गांव के लोगों ने एसपी को ज्ञापन सौंपा। आरोप लगाया गया है कि रोजगार सहायक करमसाय ने संतोषी से पीछा छुड़ाने के लिए उसकी हत्या कर शव फांसी पर लटका दिया। गांव वालों की मांग है कि जांच की जाए तो हत्या का खुलासा होगा। ग्रामीणों ने जांच में लापरवाही बरतने और रोजगार सहायक की शह पर मामले को दबाने का भी आरोप लगाया है।

खबरें और भी हैं...