खुलासा गोरखा ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझी:पत्नी और बच्चों को भड़का कर अलग कर दिया साली ने, इसलिए की हत्या

रायगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोरखा भगवानपुर में 11 अक्टूबर को हुई महिला की हत्या के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी महिला की छोटी बहन का पति है। वह भतीजे की हत्या के आरोप में 9 साल की जेल काट चुका है। बड़ी साली (मृतका) ने अपनी छोटी बहन (आरोपी की पत्नी) और बच्चों को भड़काकर उनसे अलग कर दिया इस रंजिश के कारण उसने महिला की हत्या की।

एसपी अभिषेक मीणा ने बताया कि घटना के दिन ही पुलिस को अहम सुराग मिले थे। संदेही की उपस्थिति का पता चलने पर चक्रधरनगर थानाक्षेत्र के गांव नावापाली से पूर्णचंद्र जैपुरिया (48) को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। बेलडीपा हिमगिर सुंदरगढ़ के रहने वाले पूर्णचंद्र ने कड़ाई से पूछताछ करने पर हत्या की बात कबूल की। उसने रंजिश के कारण बड़ी साली की हत्या की। 2012 में बेलडीपा में जमीन विवाद के कारण भाइयों के साथ मिलकर उसने भतीजे माधव जैपुरिया की हत्या की थी। इसके बाद लगभग 9 साल सुंदरगढ़ ओडिशा की जेल में रहा। छह महीने पहले ही जेल से छूटा है।

खुन्नस... साली को मारने साइकिल से गया 17 किमी दूर
आरोपी ने पुलिस को बताया कि ओडिशा में जेल से रिहा होने के बाद वह 3 महीने हिमगिर में रहा। इसके बाद पत्नी और बच्चों के साथ रायगढ़ पतरापाली आकर रहने लगा। ओडिशा की जमीन गिरवी रखकर 10 हजार लिए और पत्नी को दिए। पतरापाली में अचानक उसकी पत्नी और बच्चे गोरखा में मीरा (मृतका) के पास गए। मीरा ने बहन और भांजे-भांजियों को उससे दूर करा दिया। कोई ठिकाना न रहा तो वह नवापाली में अपने भांजे के घर रहने लगा। उसके मन में बड़ी साली (मीरा) के लिए नफरत थी, उसे सबक सिखाना चाहता था। उसे पता था कि मीरा के पति और बेटी नेपाल गए हैं। दूसरी बेटी मंदिर और बेटा ड्यूटी पर है। वह नवापाली से टांगी ले साइकिल से 17 किलोमीटर दूर हत्या करने गोरखा पहुंचा था।

खबरें और भी हैं...