पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भीम सिंह ने मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण:जिले में लग रही प्रदेश की सबसे आधुनिक सीटी स्कैन मशीन

रायगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीटी स्कैन मशीन इंस्टालेशन का जायजा लेते कलेक्टर भीम सिंह। - Dainik Bhaskar
सीटी स्कैन मशीन इंस्टालेशन का जायजा लेते कलेक्टर भीम सिंह।
  • कलेक्टर बोले: 10 दिनों में शुरू करें ताकि मरीजों को राहत हो

शनिवार को कलेक्टर भीम सिंह ने मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया। यहां उन्होंने सीटी स्कैन मशीन के इंस्टालेशन कार्य का जायजा लिया। उन्होंने इंस्टालेशन के लिए भोपाल से पहुंचे इंजीनियर को सारा काम अगले 10 दिनों में पूरा कर मशीन चालू करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने शेष बचे कार्य के संबंध में पूरी जानकारी ली।

मशीन का इंस्टालेशन कर रहे इंजीनियर ने बताया कि सीटी स्कैन मशीन के टूल्स लगाए जा रहे हैं। इसके बाद मशीन को कैलीबरेट कर टेस्टिंग की जाएगी। इसके साथ ही यूपीएस व एसी की टेस्टिंग भी पूरी की जाएगी। जिसके बाद मशीन उपयोग के लिए तैयार हो जाएगी। मेडिकल कॉलेज में यह मशीन चालू हो जाने से कोविड के मरीजों के इलाज मे आसानी होगी। गंभीर मरीज जिनके संक्रमण का स्तर देखने के लिए सीटी स्कैन किया जाना जरूरी होता है, यह सुविधा अब मेडिकल कॉलेज में ही मिलने लगेगी। इसके पूर्व सीटी स्कैन को इन्स्टाल करने के लिए पीडब्लूडी की ओर से मशीन का फाउंडेशन, एयर कंडीशनिंग और इलेक्ट्रिकल वर्क पूरे कर लिए गए थे। अब मशीन के इंस्टालेशन से जुड़े तकनीकी काम किये जा रहे हैं जिससे अगले 10 दिनों में यह मशीन इंस्टाल कर ली जाएगी। कलेक्टर ने सारे कार्य समय से पूरे करने के निर्देश दिए।

अत्याधुनिक है ये सीटी स्कैन मशीन
रायगढ़ मेडिकल कॉलेज में इंस्टाल की जा रही मशीन 128 स्लाइड्स की एडवांस कैपेसिटी वाली है। यह पूरे प्रदेश के मेडिकल कॉलेज में इन्सटाल्ड सबसे आधुनिक मशीन है। 128 स्लाइड होने के कारण यह काफी कम समय में स्कैनिंग पूरी कर लेती है और कवरेज एरिया भी अधिक होता। इससे मिलने वाली इमेजेस की स्पष्टता भी अधिक होती है। कोविड मरीजों के फेफड़े में संक्रमण के स्तर की जांच के साथ ही यह मशीन सिर की चोट और मस्तिष्क में खून जमना, ब्रेन ट्यूमर, पैरालिसिस व अन्य बीमारियों, रीढ़ की हड्डी, पेट व चेस्ट से जुड़े रोगों व विभिन्न प्रकार के कैंसर की पहचान और बेहतर उपचार में अत्यंत उपयोगी सिद्ध होगा।

पाइप लाइन फिटिंग का काम समय से करें पूरा
मेडिकल कॉलेज के ग्राउंड फ्लोर में 100 बेड बढ़ाने का काम भी पूरी तेजी से किया जा रहा है। इसके लिए फ्लोर पर पाइप लाइन विस्तार के साथ इसके लिए पृथक मेनिफोल्ड इंस्टालेशन का काम किया जा रहा है। कलेक्टर ने सारे कार्य समय से पूरा करने के निर्देश दिए, जिससे जल्द 100 ऑक्सीजन बेड मेडिकल कॉलेज में शुरू किया जा सके। ज्ञात हो कि मेडिकल कॉलेज के दूसरे फ्लोर में कोविड वार्ड बनाया गया है। जिसके पश्चात ऑक्सीजन बेड की बढ़ती जरूरत को देखते हुए कलेक्टर के निर्देश पर तीसरे और ग्राउंड फ्लोर पर तेजी से ऑक्सीजन बेड बढ़ाने का काम शुरू किया गया। तीसरे फ्लोर में 70 ऑक्सीजन बेड तैयार कर लिए हैं।

खबरें और भी हैं...