धान खरीदी कल से }ृ:15 दिन पहले ही ले सकेंगे टोकन मिलर्स बोरे देंगे, पर हड़ताल पर अड़े

रायगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

धान की खरीदी 1 दिसंबर से शुरु हो जाएगी। सोमवार को सरकार ने धान खरीदी नीति जारी कर दी है। किसान टोकन लेने के 15 दिन तक धान बेच सकेंगे। पहले दिन सारंगढ़ की एक समिति में ही टोकन कटे। अफसरों ने बताया कि दूसरे सेंटरों में किसान पहुंचे ही नहीं।

धान खरीदी बुधवार से शुरू होगी, मंगलवार से सोसाइटियों का टोकन काटे जाएंगे। अभी तीन से चार दिन के लिए साफ्टवेयर ट्रॉयल में रखा गया था। धान खरीदी शुरू होने के पहले राज्य सरकार ने सोमवार को 21 नई सोसाइटी खोलने का निर्णय लिया है, जिसमें सारंगढ़ के बोहराबहाल में नया केन्द्र खोला जाएगा। बारदाने की कमी को देखते हुए ज्यादा से ज्यादा धान खरीदी किसानों के बोरे से खरीदने के निर्देश दिए गए हैं। मिलर्स अभी 5-5 हजार बारदाने देंगे- हर मिलर्स 5-5 हजार बारदाने सोसाइटियों को देंगे, इसके लिए खाद्य विभाग उतना बारदाने का देने के लिए डीओ दे रही है। हालांकि नया बारदाने में ज्यादा से ज्यादा खरीदी हफ्ते भर तक हो जाएगी, 8-10 दिसंबर से जब खरीदी बढ़ेगी उसी समय ही बारदाने की जरूरत पड़ेगी। उसी समय ही पीडीएस दुकानों से बारदाने लिए जाएंगे। बहरहाल बारदाने की समस्या पूरी खरीदी के दौरान दिखेगी। हालांकि अफसर बारदाने की कमी की आशंका से इनकार कर रहे हैं।

धान के रकबे को सुधारने का आज अंतिम मौका
धान खरीदी के पहले रकबे में भी सुधार कराया जा रहा है, दरअसल खाद्य विभाग के खरीदी पोर्टल में किसानों का रकबा गायब हो जाने और किसानों का नाम नहीं होंने की बात भी सामने आई थी। इसे तहसीलदार के माध्यम से सुधार कराने के लिए कहा है, इसका पोर्टल मंगलवार को भी इसमें सुधार हो सकेगा, हालांकि अफसरो कहना कि अभी सभी किसानों की रकबा और जिनका काम कटा था, उसे जोड़ लिया है। अब हर सोसाइटियों से कहा गया हैं कि उनके लिस्ट में जो समस्या है उसे तहसील में भेजे, जिसके बाद उसे सुधारा जा सकेगा।

खबरें और भी हैं...