पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

माता बनी कुमाता:पुलिस अंकल! हमें कमरे में बंद कर कोच सर से बात करती रहती है मम्मी

रायगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिता नौकरी के कारण बाहर रहते हैं, कोच से दिल लगा बैठी मां तो 13 साल की बेटी और 8 साल के बेटे ने दर्ज कराई एफआईआर

रिश्तों में मर्यादा को तार-तार करने वाला एक मामला शहर के बैकुंठपुर में सामने आया है। मां के खिलाफ 13 साल की बेटी और 8 वर्षीय बेटे ने कोतवाली में शिकायत की है। पति नौकरी पर अक्सर बाहर रहते हैं और बच्चों के कोच से अफेयर के कारण महिला बेटे-बेटी को भूखे-प्यासे घंटों कमरे में बंद कर देती है और कोच से बातें करती रहती है। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने बाल कल्याण समिति के सामने बच्चों का बयान करने के बाद महिला के खिलाफ मामला दर्ज किया है। बच्चों की पहचान छिपाने के लिए हम कुमाता बनी महिला का नाम भी नहीं लिख रहे हैं। बाल कल्याण समिति ने भेजा कार्रवाई का पत्र- नाबालिग बच्चों को भूखा प्यासा कमरे में बंद करने और महीनों तक लगातार प्रताड़ित किए जाने का मामला संज्ञान में आने के बाद बाल कल्याण समिति ने भी बच्चों के पिता से संपर्क कर कोतवाली पुलिस को बाल संरक्षण के तहत कार्रवाई करने के लिए पत्र भेजा है। जिसके आधार पर पुलिस कार्रवाई कर रही है। कोतवाली प्रभारी एसएन सिंह ने बताया कि जांच की जा रही हैं, जो भी तथ्य सामने निकल कर आएंगे, उसके आधार पर धारा बढ़ाई जाएगी और जो भी साजिश में शामिल रहे होगें उन पर कार्रवाई होगी।

लोक लाज छोड़ी, बच्चों की परवाह नहीं

महिला ने अपने बच्चों को पढ़ाई के साथ ही खेलकूद में भी ऊंचाइयों तक पहुंचने का सपना देखी थी। उन्हें बैडमिंटन सिखाने के लिए एक कोच लगाया। कुछ दिन सब ठीक चला फिर बच्चों का भविष्य भूलकर महिला अपने सपने संजोने लगी। बच्चे समझदार हो गए हैं, ऐसी हरकतों का उनपर क्या असर पड़ेगा...इन सारी बातों को दरकिनार कर महिला बच्चों के कोच से दिल लगा बैठी। कोच से मिलने और घंटों बातें करने वह बेटी-बेटे को घंटों कमरे में बंद कर देती। खाना या पानी मांगने पर बच्चों को चाकू मारने या छत से फेंकर जान लेने की धमकी देती। बच्चों ने पिता से सारी बातें बताने की बात कही तो बालकनी से लटका देती थी। हारकर बच्चों ने पुलिस से मदद मांगी। उन्होंने पुलिस को बताया कि उनके पिता पूंजीपथरा के एक प्लांट में काम करते हैं, अक्सर वहीं रुकना पड़ता है । बच्चों की शिकायत पर महिला (बच्चों की मां) के खिलाफ धारा 506, 342 आईपीसी के तहत अपराध दर्ज किया है।

अफसरों के सामने रो पड़े, बोले... बाथरूम का पीना पड़ता था पानी

बाल कल्याण समिति और पुलिस अफसरों के सामने दोनों बच्चे फूट-फूटकर रोने लगे और आपबीती सुनाई । दोनों मासूमों ने बताया कि कोच दानवीर सर से मम्मी काफी दिनों से 4-5 घंटे बात करती थी। जब हमने विराेध शुरू किया और फाेन पर कोच सर का नंबर देखा तो मम्मी ने डांटना शुरू कर दिया। एक दिन गुस्से में मैंने कहा, पापा को आने दीजिए मैं सारी बात बताउंगी तो मां ने हमें बुरी तरह से पीटा। कुछ दिनों तक दोपहर-शाम बातें होती थीं फिर कोच घर आने लगे। उनके घर आते ही मां, हम दोनों बहन-भाई को कमरे में घंटों बंद रखती। प्यास लगने पर आवाज लगाने पर भी नहीं आती थी। मजबूरी में बाथरूम का पानी पीना पड़ता था। बयान देते हुए बच्चे अपने पिता से लिपटकर रोने लगे, कहा, हमें बचा लीजिए, पुलिस अंकल से कहिए मम्मी को सजा दें। ताकि वह हमसे ऐसा व्यवहार न करें।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें