शहर के भीतर नशेड़ी ने किया जानलेवा हमला:घायल इलाज के लिए सिविल हॉस्पिटल में भर्ती

पत्थलगांवएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घायल युवक से घटना की जानकारी लेती पुलिस। - Dainik Bhaskar
घायल युवक से घटना की जानकारी लेती पुलिस।

दीपावली की रात सरस्वती शिशु मंदिर के पीछे एक युवक पर जानलेवा हमला किया गया,जिसमे युवक बुरी तरह घायल हो गया। आरोपी मुकेश सिदार ढोढीटिकरा का निवासी है। नशे में ही उसने उमेश तिवारी(पिंटु) पर घातक हथियार से जानलेवा हमला कर दिया जिसमे उमेश तिवारी को गंभीर चोट लगी है। घायल काने इलाज के लिए सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। घटना को अंजाम देने के बाद से फरार है। दरअसल इन दिनों शिशु मंदिर के पीछे नशे का कारोबार खूब फल फूल रहा है। पिछले दिनो हिट एंड रन का मामला घटित होने के बाद पुलिस की कार्यवाही से नशे के पुराने अड्डे लगभग बंद हो गए थे, पर नशेड़ियों ने अपने पुनः नए अड्‌डे बना लिए है। पहले ढोढीटिकरा, पुरानी बस्ती, चट्टानपारा में गांजा का कस लगाने के अड्डे जमते थे, पर पुलिस की सख्ती से अड्डों को बंद करा दिया।

अब शिशु मंदिर के पीछे माेहल्ले में नशेड़ियों ने अपना नया अड्डा बना रखा है। शाम होते ही गुरुद्वारा रोड से होकर शिशु मंदिर के पीछे नशेड़ी पहुंचने लगते है। यहां के कुछ घरो में बैठा कर गांजा के कश लगवाने का कारोबार चल रहा हैै। दिवाली की रात भी नशेड़ी शिशु मंदिर के पीछे उमेश तिवारी का इंतजार कर रहा था। उसके आते ही घातक हथियार से उमेश तिवारी के सिर व हाथ पर हमला कर दिया।

नशे ने बढ़ाया अपराध
यहां युवकों का एक बड़ा तबका शराब के अलावा गांजा, सुलेशन एवं डोडा चुरा की लत में फंसा हुआ है। हाईस्कूल का मैदान के अलावा रेस्ट हाउस गार्डन, गुरूबारूघोडा, भाथुडांड रोड युवकों के लिए नशे का सेवन में उपयुक्त स्थान माना जा रहा है। शाम ढलते इन स्थानों पर नशेड़ियों की टोलियों को आसानी से देखा जा सकता है।

नशे का सेवन करने के बाद युवक मामूली से लेकर गंभीर अपराधाें को अंजाम देने से भी नहीं हिचकिचाते। पुलिस प्रशासन की तमाम कोशिशों के बाद भी शहर में गांजा का नशा करने वाले नशेड़ियों की तादाद में कोई कमी नहीं आई।

खबरें और भी हैं...