सलाह / कोरोना के संक्रमण को रोकने में आइसोलेशन के नियमों का पालन करना जरूरी: डाॅ. मिंज

It is necessary to follow the rules of isolation to prevent corona infection: Dr. Minj
X
It is necessary to follow the rules of isolation to prevent corona infection: Dr. Minj

  • प्रवासी मजदूरों के आने से संक्रमण बढ़ने का खतरा और अधिक, पहलेे से ज्यादा बरतें सावधानी

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

पत्थलगांव. छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। संक्रमण के प्रथम चरण में बीमारी फैलने का अंदेशा विदेश से लौटकर आए लोगो से था। दूसरे चरण में दिल्ली से लौटे जमातियों से संक्रमण फैलने के मामले सामने आए। छत्तीसगढ़ में अब तीसरा चरण प्रवासी मजदूरों का है। हर रोज दूसरे राज्यों से आए प्रवासी मजदूरों का संक्रमित निकलने के बाद स्थिति भयावह नजर आ रही है। लगातार संक्रमण के मामले बढ़ने से प्रदेश की जनता मे डर भी बना हुआ है। 
ब्लाक चिकित्सा अधिकारी डाॅ. जेम्स मिंज ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना भूलने की सलाह दी। उनका कहना था कि सामाजिक दूरी के अलावा बाहर से आने वाले लोगो के लिए होम आइसोलेशन या उन्हें क्वारेंटाइन करना सबसे बेहतर विकल्प है। उन्होंने बताया कि पूरा देश इस समय कोविड 19 महामारी के चौथे लॉकडाउन में चल रहा है। ऐसे समय में प्रवासी मजदूर एवं दूसरे राज्यों मे फंसे लोगों को सरकार द्वारा उनके गृहग्राम तक पहुंचाने का काम किया जा रहा है। उनका कहना था कि कोरोना वायरस के संक्रमण से अन्य लोगों को बचाने तथा वातावरण में विषाणु के संचरण की संभावना को रोकने के लिए प्रभावित क्षेत्र से आए व्यक्ति को क्वारेंटाइन सेंटर मे रखकर संक्रमण की पहचान एवं फैलाव पर रोकथाम की कोशिश की जा रही है।
स्वास्थ्य विभाग ने जारी की मार्गदर्शिका
डाॅ जेम्स मिंज ने बताया कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने ‘होम आइसोलेशन मार्गदर्शिका‘ जारी की है,जिसमे  ‘होम आइसोलेशन‘ के दौरान क्वारेंटाइन व्यक्ति को क्या करने एवं क्या ना करने के टिप्स दिए गए हैं।  उन्होंने बताया कि जिन व्यक्तियों में संक्रमण के लक्षण नहीं है, उन्हें 14 दिन के लिए बाहर निकलने घूमने फिरने एवं सामान्य व्यक्तियों से दूर रखा जाता है। उन्होंने बताया कि इस दौरान संबंधित व्यक्तियों को बाहर के किसी भी व्यक्ति से मिलने जुलने की मंजूरी नही दी जाती। उसके अलावा घर पर आइसोलेट होने वाले व्यक्ति से उनके परिजनों को खास सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है।
परिजन भी रहें सतर्क
डाॅ. जेम्स मिंज ने बताया कि क्वारेंटाइन सेंटर मे रहने वाले व्यक्ति से उनके परिजनों को भी सतर्क रहने की खास आवश्यकता है।  सेंटर मे रखे मजदूरों से परिजन के मिलने की कोशिश करने की बातें सुनाई दे रही है, परंतु  पूरी तरीके से गलत है। उनका कहना था कि जरा सी चूक कई लोगो को गंभीर परिणाम भुगतने की स्थिति में पहुंचा सकती है। उनका कहना था कि घर पर आइसोलेट होने वाले व्यक्ति से भी परिवार के अन्य लोगो को दूरी बनाकर रहना चाहिए। डॉ. मिंज ने बताया कि आइसोलेट व्यक्ति के खान-पान एवं उसके जरूरी सामानों से अन्य परिजनों को कुछ दिनों के लिए परहेज कर स्वयं एवं अपने परिवार के स्वास्थ्य की रक्षा करनी चाहिए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना