अन्नकूट पूजा:दीपावली के दूसरे दिन पंचमेला का प्रसाद लेने लगी कतार

पत्थलगांव22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

दीपावली के दूसरे दिन यहां के कुछ मंदिरों में अन्नकूट का भंडारा लगाया जाता है। यहां के सबसे प्राचीन सत्यनारायण मंदिर में इस आयोजन को वृहद रूप में किया गया। सत्यनारायण मंदिर में पिछले 5 दशक से दीपावली के दूसरे दिन अन्नकूट पूजा हाेती है। समिति के अध्यक्ष अनिल मित्तल, कोषाध्यक्ष श्रवण अग्रवाल, अरूण, गोविंद, सुनील अग्रवाल, नत्थू शर्मा, संजय लोहिया, मुन्ना शर्मा, चमरू अग्रवाल, आलोक गर्ग के अलावा अन्य लोगो ने काफी तैयारियां कर रखी थी।

दरअसल शहर का सत्यनारायण मंदिर सबसे प्राचीन मंदिर है। यहां सर्व समाज के लोगो द्वारा मिलकर धार्मिक आयोजन को संपन्न कराया जाता है। समिति के अध्यक्ष अनिल मित्तल ने बताया कि 50 साल से भी अधिक समय से सत्यनारायण मंदिर में दीपावली के दूसरे दिन अन्नकूट का भंडारा लगाया जाता है।

जिसमें आस-पास की पंचायतों के अलावा गांव के सभी धर्म से जुड़े लोग अन्नकूट का प्रसाद ग्रहण करने यहां कतार लगाकर खडे़ होते हैं। उन्होंने बताया कि इस मर्तबा मंदिर समिति ने अन्नकूट के भंडारे में पंचमेला व्यंजन के अलावा और सात प्रकार के स्वादिष्ट पकवान बनाए थे।

खबरें और भी हैं...