पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लोग मजबूर पर खतरा भी:नगर में 5 गुना बढ़ी अस्थि विसर्जन करने वालों की संख्या

शिवरीनारायण9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • संक्रमण फैलने का खतरा, नगरवासियों की मांग एक जगह काली घाट में ही हो अस्थि विसर्जन

महानदी को चित्रोत्पला गंगा कहते हैं। इन्ही कारणों से जो लोग प्रयागराज नहीं जा सकते उनके लिए यह पवित्र गंगा से कम नहीं है। लॉकडाउन में वे अस्थियों को यहां प्रवाहित कर रहे हैं। यहां के पंडितों के अनुसार पहले औसतन दिन में 20 के आसपास लोग पिंडदान व अस्थि विसर्जन करने आते थे लेकिन कोविड काल में इन दिनों पिंडदान करने वालों की संख्या अत्यधिक बढ़ गई है।

नगर के पंडितों राजू शर्मा, चन्द्रमोहन शर्मा, विवेक दुबे, पंकज शर्मा, प्रकाश दुबे व कृष्ण कुमार भट्ट ने बताया इन दिनों दिन भर में करीब सौ के आसपास लोग अस्थि विसर्जन करने नगर पहुंच रहे हैं। जिसमें 80 प्रतिशत अस्थि कोरोना से हो रही मौत के लोगों के हैं। इसका एक कारण इन दिनों कोरोना से हो रही मौतें हैं। तो दूसरी वजह साधन नहीं मिल पाना है। जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होती वह इलाहाबाद ना जाकर महानदी शिवरीनारायण आकर पिंडदान करते हैं। लॉकडाउन के कारण साधन संपन्न व आर्थिक रूप से सक्षम लोग भी यहां अस्थि विसर्जन करने पहुंच रहे हैं। नगर के काली घाट, पुराना रपटा घाट, डोंगा घाट, साव घाट, बावा घाट, राम घाट, महादेव घाट व चौपाटी के नीचे घाटों में नगर के पंडितों द्वारा अस्थि विसर्जन व पिंडदान का कार्य किया जा रहा है।

नगर में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा
कोरोनाकाल में इन दिन बहुत से जिलों सहित प्रदेश भर के लोग अस्थि विसर्जन करने नगर पहुंच रहे हैं। नगर विभिन्न के घाटों में अस्थि विसर्जन का काम हो रहा है। अधिकतर मौतें कोविड के कारण हो रही हैं। अस्थि के साथ प्रदेश भर के लोग परिजन भी बड़ी संख्या में नगर पहुंच रहे हैं। यदि उनमें से लोगों को कोरोना होता है नगर के पंडित, पूजा सामान बेचने वाले, नाई, नाविक सहित अनेक लोग उनके सम्पर्क में रोज आ रहे हैं। इस स्थिति में नगर में कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा लगातार बढ़ रहा है।

एक हफ्ते से अवकाश पर हूं
घर में परिजन के कोरोना संक्रमित हो जाने के कारण एक हफ्ते से अवकाश पर हूं। एक हफ्ते पूर्व घाटों में बांस की बेरिकेडिंग कराई गई थी। पंडितों व पूजा सामान बेचने वालों को अस्थि विसर्जन के लिए दो लोगों को ही आने व सभी काम बाहर से कराके आने केवल अस्थि विसर्जन यहां कराने की समझाइश दी गई थी। ड्यूटी पर लौटते ही व्यवस्था सुधारी जाएगी। अस्थि विसर्जन का काम काली घाट में एक जगह कराया जाएगा।''
-प्रकाश साहू, तहसीलदार, शिवरीनारायण

लगातार समझाइश दी जा रही है
अस्थि विसर्जन कराने वाले सभी लोगों को लगातार समझाइश दी जा रही है। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने भी कहा जा रहा है। काली घाट में अस्थि विसर्जन घाट का काम पूर्ण हो गया है। एक दो दिन में व्यवस्था बनाकर अस्थि विसर्जन सिर्फ काली घाट में कराया जाएगा।''
-हितेन्द्र यादव, सीएमओ नगर पंचायत शिवरीनारायण


खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

    और पढ़ें