IPS अफसर ने दी कांस्टेबल को गाली:बोले- IG के पास जा या भूपेश के पास फर्क नहीं पड़ता; ऑडियो वायरल होने पर ट्रांसफर

बलौदाबाजार7 महीने पहले

छत्तीसगढ़ के गृह विभाग ने शुक्रवार को 7 आईपीएस अधिकारियों और एक राज्य पुलिस सेवा के अधिकारियों का ट्रांसफर कर दिया। जिसमें बलौदाबाजार जिले के एसपी इंदिरा कल्याण एलेसेला का नाम भी शामिल है। एलेसेला को अब 11वीं वाहिनी छसबल जांजगीर चांपा भेजा गया है।

एलेसेला के तबादले का आदेश उनका एक कथित ऑडियो वायरल होने के बाद आया है। जिसमें वह कांस्टेबल को यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि जाओ आईजी के पास जाओ, उसके बाप के पास जाओ, या भूपेश बघेल के पास जाओ मुझे फर्क नहीं पड़ता। मामला कांस्टेबल के मकान आवंटन से जुड़ा है।

दरअसल, जिले में पदस्थ कांस्टेबल ब्रम्हानंद देवांगन को सरकारी क्वार्टर आवंटित हुआ था। बलौदाबाजार में उसी क्वार्टर में वह अपनी पत्नी के साथ रहता था। इस बीच जनवरी 2021 में उसे क्वार्टर खाली करने का नोटिस जारी हुआ हो गया। इसी वजह से कांस्टेबल ने कई बार एसपी से उस क्वार्टर को खाली नहीं करवाने की मांग की थी। इसी कड़ी में वह फिर से एसपी के पास पहुंचा था। उसी दौरान का यह ऑडियो बताया जा रहा है।

ब्रम्हानंद देवांगन
ब्रम्हानंद देवांगन

ऑडियो में गाली देते सुनाई दे रहे एसपी
ऑडियो में कांस्टेबल कहता हुआ सुनाई दे रहा है कि साहब मकान खाली नहीं कराईए। इसी को लेकर पत्नी से विवाद भी हो रहा है। इस पर एसपी उससे ये कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि पत्नी से विवाद हो रहा है तो छोड़ दो परिवार, तुम इतनी ऊंची आवाज में कैसे मुझसे बात कर सकते हो। तुम्हारी क्या औकात है। इतना ही नहीं ऑडियो में एसपी ये कहते हुए भी सुनाई दे रहे हैं कि जाओ आईजी से बताओ, उसके बाप से बताओ या भूपेश बघेल से मुझे फर्क नहीं पड़ता। ऑडियो में एसपी गाली देते भी सुनाई दे रहे हैं।

अब ऑडियो वायरल होने के बाद कांस्टेबल ने कहा है कि मैं नियम कानून से बंधा हुआ हूं, कुछ कह नहीं सकता। मगर इस ऑडियो में आवाज मेरी है। वह कहता है कि सामने वाला शख्स एसपी ही होंगे। उसने बताया कि मामला मकान आवंटन से ही जुड़ा है। मेरी ड्यूटी बार-बार एक जगह से दूसरी जगह लग रही थी। ऊपर से मकान खाली करने को लेकर भी घर पर विवाद था।

वहीं जब दैनिक भास्कर ने इंदिरा कल्याण एलेसेला से बात करने की कोशिश की तो उनसे बात नहीं हो सकी। हां जब उनसे वॉट्सऐप पर इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने सिर्फ इतना जवाब दिया कि यह जुलाई का मामला है। ब्रम्हानंद देवागंन फिलहाल जिले के लाहौद पुलिस एकेडमी में पदस्थ हैं।

खबरें और भी हैं...