पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:सट्टा जोरों पर, इधर पुलिस नंबर लिखने वालों को ही पकड़ रही

बरगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • किसी बड़े माफिया को पकड़ने में पुलिस असमर्थ

जिले में सट्टा कारोबार धडल्ले से जारी है। शहर से लेकर ग्रामीण अंचल तक उक्त रैकेट की जड़े पहुंच चुकी है। इसके वजह से इस व्यवसाय को रोकने में प्रशासन असमर्थ दिखाई दे रहा है। पुलिस द्वारा छापेमारी करने पर सिर्फ नम्बर लिखने वालों लोगों को ही पकड़ रही है। अब तक किसी बड़े माफिया को पकड़ने में पुलिस असमर्थ है। कुछ दिन पहले पुलिस ने सट्टा खिला रहे युवक को पकड़ा था। उसके छूटने के बाद उसने फिर से सट्टा का कारोबार शुरू कर दिया। माफिया के लोग खुलेआम उक्त व्यवसाय को चला रहे है। शहर के कुछ मुख्य रास्ते पर तो कुछ गलियों में पडे छोटे छोटे केबिन में सट्टा का व्यवसाय धड़ल्ले से चला रहे हैं। इस वजह से बेरोजगार लोगों का यह अड्डा भी बनता जा रहा है। शहर में 20 से अधिक मालिक सट्टा कारोबार को नियंत्रित कर रहे है। शहर के भीतर हाटपदा पाडा, तलीपाडा, भटाली चौक, निजी बस स्टैण्ड, गुरुद्वारा चौक, रेलवे स्टेसन, अम्बापाली अंचल में सट्टा का कारोबार चलाया जा रहा है। शहर को छोड दे तो तुरा, बरडोल, सीमेन्ट नगर, पानीछत्तर, नूआ सरसरा, बालीजोरी आदि गांवों में भी उक्त व्यवसाय धडल्ले से चल रहा है। सटटा माफियाओं को कारोबार दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है।

खबरें और भी हैं...