पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जांच के लिए दिया आदेश:ग्रामीण क्षेत्रों में धड़ल्ले से चल रहा झोलाछाप डॉक्टर्स का धंधा

बसना(ग्रामीण)21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बसना ब्लॉक के चनाट, रामभाठा, बीरेनडबरी और भंवरपुर के आसपास ग्रामीण क्षेत्रों में धड़ल्ले से झोलाझाप डॉक्टर्स का धंधा चल रहा है। कोरोना महामारी के दौर में विभिन्न समस्याओं के इलाज के लिए ग्रामीण इन्हीं चिकित्सकों से संपर्क कर रहे हैं, जो बिना पंजीयन के लैब व क्लीनिक चला रहे हैं और उनके पास कोई योग्यता भी नहीं है। वहीं जिन गांवों में स्वास्थ्य केंद्र हैं, वहां भी ऐसे चिकित्सक लोगों का इलाज करते दिख जाएंगे, जो सर्दी, बुखार व अन्य स्वास्थ्य समस्याओं में लोगों को दवाई, इंजेक्शन व ग्लूकोज बॉटल तक प्रदान कर रहे हैं।

जांच के लिए दिया आदेश
मिली जानकारी के अनुसार बसना ब्लॉक के ग्राम पंचायत चनाट के रामभाठा में मोहित दास नाम का व्यक्ति अपने घर में ही क्लीनक खोलकर ब्लड टेस्ट और मरीजों को इंजेक्शन लगा रहा है। जबकि उसके पास सिर्फ एमएलटी (मेडिकल लेबाेरेटरी टेक्निशियन) की डिग्री है, जो पंजीयन के बाद ही सिर्फ ब्लड जांच कर सकता है। लेकिन यहां वह मरीजों का पूरा इलाज कर रहा है।

इसकी सूचना बसना तहसीलदार को मिली तो उन्होंने क्षेत्र के पटवारी को निर्देशित किया कि वे वहां जाकर उनकी डिग्री व जरूरी कागजात को बसना बीएमओ से जांच कराने के लिए कहा है। क्षेत्र में ऐसे ही बहुत से झोलाझाप चिकित्सक काम कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...