पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नई शुुरुआत:सुविधाएं बेहतर करने की कोशिश: रेल मंत्री

रायगड़ा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हीराखंड एक्सप्रेस को मिला नया स्वरूप, कोरापुट में दिखाई हरी झंडी

आधुनिक एलएचबी कोच के साथ शुरू की गई हीराखंड एक्सप्रेस अब जगदलपुर से भुवनेश्वर के बीच चलेगी। कोरापुट में आयोजित कार्यक्रम के दौरान वर्चुअल रूप से मौजूद रहे रेलमंत्री अश्वनी वैष्णव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल पर रेल सुविधाओं में सुधार लाने की कोशिश किए जाने की बात कही। उन्होंने कहा कि इससे यात्रियों को बेहतर सुविधाएं मिल सकेंगी।

वर्चुअल रूप से मौजूद रहे केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और रेलमंत्री वैष्णव ने इस नए कलेवर में ढली हीराखंड एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई। उन्होंने बताया कि हाल में ओडिशा दौरे पर पहुंचे थे, जहां उन्होंने हीराखंड एक्सप्रेस में यात्रियों के साथ सफर किया था और रेल सुविधाओं के बारे में फीडबैक भी लिया था। उन्होंने हीराखंड एक्सप्रेस में नए आधुनिक एलएचबी कोच लगाने पर यात्रियों की सुविधाओं में बढ़ोतरी बताया। इसके अलावा केंद्रीय शिक्षा मंत्री प्रधान ने भी अपनी बात रखी। कार्यक्रम में कोरापुट सांसद सप्तगिरी उल्का, कोरापुट विधायक रघुराम पडल, रायगड़ा विधायक मकरंद मुदुली, अशोक पंडा सहित रेलवे के अफसर मौजूद थे।

सांसद की कोशिश रंग लाई: कोरापुट सांसद सप्तगिरी उल्का ने इस ट्रेन को एलएचबी कोच से लैस करने के लिए काफी प्रयास किए। उन्होंने मंत्रालय से लेकर तमाम अफसरों और मंत्रियों से मांग की थी।

नई बोगी में बड़ी खिड़की और मॉल्यूलर इंटीरियर
हीराखंड एक्सप्रेस भुवनेश्वर से जगदलपुर तक 784 किमी का सफर तय करती है। ओडिशा, आंध्रप्रदेश और छत्तीसगढ़ के 21 स्टेशनों से होकर ये ट्रेन गुजरती है। इस ट्रेन के ऑन बोर्ड यात्रियों को रास्ते की घाटी, सुरंग, जीवों-वनस्पतियों की सुंदरता को निहारने का आनंद मिलेगा। इसके लिए इस ट्रेन के कोच में बड़ी खिड़कियां और सुंदर मॉल्यूलर इंटीरियर मौजूद है। एलएचबी यानि लिंके-हॉफमैन-बुश कोच में एंटी टेलिस्कोपिक, सुरक्षित, हल्के और ज्यादा आरामदायक और बिना झटकों के लोग सफर का आनंद ले सकेंगे।

खबरें और भी हैं...