पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोविड वार्ड में गूंजी नन्ही किलकारी:गीदम के कोविड अस्पताल में कोरोना संक्रमित दो गर्भवती महिलाओं ने बच्चों को दिया जन्म, जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित

दंतेवाड़ा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दंतेवाड़ा जिले के गीदम कोविड अस्पताल में दो कोरोना पॉजिटिव महिलाओं ने बच्चों को जन्म दिया है। - Dainik Bhaskar
दंतेवाड़ा जिले के गीदम कोविड अस्पताल में दो कोरोना पॉजिटिव महिलाओं ने बच्चों को जन्म दिया है।

छतीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के गीदम कोविड अस्पताल में दो कोरोना पॉजिटिव महिलाओं ने बच्चों को जन्म दिया है। अस्पताल की स्टाफ नर्सों ने कोरोना संक्रमित गर्भवती महिलाओं की सुरक्षित डिलीवरी करवाई है। बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले ही यहां गुड़से व हीरानार की कोरोना पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं को एडमिट किया गया था। जिनका इलाज किया जा रहा था। इलाज के दौरान ही इन गर्भवती महिलाओं ने स्वस्थ्य बच्चों को जन्म दिया है। अस्पताल में नन्ही किलकारी गूंजी है।

एक ने बेटे तो दूसरी ने बेटी को दिया जन्म

गर्भवती महिलाओं का सुरक्षित प्रसव होने के बाद गीदम के कोविड अस्पताल में काफी खुशी का माहौल था। दोनों महिलाओं को जब कोविड अस्पताल में भर्ती करवाया था तब इनके प्रसव का समय बेहद नजदीक था।ऐसे में स्टाफ भी इनका बराबर ख्याल रख रहा था। जैसे ही महिलाओं को प्रसव पीड़ा हुई तो स्टाफ नर्स प्रतिमा सुनानी, खुशबू झाड़ी सहित अन्य महिलाओं ने दोनों की डिलीवरी कराई। हीरानार की गर्भवती ने बेटी को तो वहीं गुड़से की गर्भवती महिला ने बेटे को जन्म दिया है।

जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ्य

कोविड अस्पताल प्रभारी डॉ देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि कोविड अस्पताल में कई कोरोना पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं का इलाज हुआ है। वे ठीक होकर डिस्चार्ज भी हुई हैं। लेकिन पॉजिटिव महिलाओं के प्रसव का यह पहला ही मामला है। दो महिलाओं की डिलीवरी हुई। सभी स्वस्थ हैं। दरअसल ये मातृ शिशु अस्पताल है, जिसे सालभर से कोविड अस्पताल के रूप में बदला गया है। कोविड अस्पताल बनने के बाद यहां पहली डिलीवरी हुई है। इधर कोरोना पॉजिटिव महिलाओं का सुरक्षित प्रसव कराने पर कलेक्टर दीपक सोनी ने भी पूरे स्टाफ को बधाई दी है।

मेकाज व कांकेर अस्पताल में भी स्टाफ ने कराई थी डिलीवरी

इसके पहले मेडिकल कॉलेज जगदलपुर व कांकेर के कोविड अस्पतालों में भी स्टाफ ने महिलाओं का सुरक्षित प्रसव करवाया है। जबकि कई गर्भवती महिलाएं स्वस्थ होकर घर भी लौटी हैं।

खबरें और भी हैं...