पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आस्था:दंतेश्वरी मंदिर बंद फिर भी बीजापुर-नारायणपुर से मीलों पैदल चलकर पहुंचे श्रद्धालु, कहा- मां के दरबार आना बड़ा सौभाग्य

दंतेवाड़ा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना के कारण कड़ाई के बीच भी नवरात्र की पंचमी पर माई के भक्त खुद को माता से दूर नहीं रख पाए। पंचमी पर दिनभर मंदिर में श्रद्धालुओं का आने का सिलसिला चलता रहा। बड़ी बात ये है कि मंदिर बन्द की जानकारी होने के बाद भी श्रद्धालु खुद को रोक नहीं पा रहे हैं। रास्तेभर न तो सुविधा केंद्र न तो ठहरने की किसी भी तरह की सुविधा, तब भी माता के भक्त बीजापुर से मीलों पैदल चलकर दंतेवाड़ा पहुंच गए। लेकिन यहां माई के भक्तों को बिना दर्शन किए, सिर्फ मुख्यद्वार पर मत्था टेक कर ही वापस पैदल निकलना पड़ा। बीजापुर से करीब 90 किमी पैदल चलकर दंतेवाड़ा पहुंची श्रद्धालु संतोषी, दीपा, महिमा, विशाखा, चांदनी ने बताया कि हम सभी 18 तारीख की सुबह बीजापुर से ही पैदल निकले थे। दूसरी बार है जब हम इस पर्व पर पैदल दंतेवाड़ा आ रहे हैं। हमें जानकारी थी कि दरबार बंद है, दर्शन का सौभाग्य तो नहीं मिला लेकिन दंतेवाड़ा की धरती पर कदम रख मां के द्वार पर ही मत्था टेक हम धन्य हो गए। रास्ते में इस बार सुविधा केंद्र नहीं हैं, मां के दरबार पहुंचना था तो भय किस बात का।

पंचमी पर ही जुटते थे 2 लाख से ज्यादा भक्त
शारदीय नवरात्र की पंचमी पर हर साल करीब 2 लाख भक्त जुटते थे। पहली बार माई के दरबार मे शारदीय नवरात्र की पंचमी को सूनापन रहा। मन्दिर परिसर, डोम पूरा खाली रहा। हालांकि दिनभर में करीब 500 भक्त दंतेवाड़ा पहुंच ही गए। नारायणपुर से दंतेवाड़ा पहुंचे माई के भक्तों ने कहा कि दरबार के सामने आने का एक अलग सुकून है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser