पुलिस की गिरफ्त में हत्या का फरार आरोपी:युवक को मारकर पुलिया के नीचे फेंका था शव, 4 सालों से नक्सलगढ़ बिंता में छुपकर रह रहा था रामचंद, जवानों ने दबिश देकर पकड़ा

दंतेवाड़ाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
4 साल बाद दंतेवाड़ा पुलिस ने हत्या के फरार आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। - Dainik Bhaskar
4 साल बाद दंतेवाड़ा पुलिस ने हत्या के फरार आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

छत्तीसगढ़ की दंतेवाड़ा पुलिस ने हत्या के फरार आरोपी को 4 साल बाद बुधवार को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने समलूर गांव के एक युवक को मारकर पुल के नीचे फेंक दिया था। इसके बाद वह नक्सल प्रभावित गांव में जाकर छिप गया था। इसके कारण पुलिस उस तक नहीं पहुंच पा रही थी। सूचना के बाद जवानों ने गांव में दबिश दी और आरोपी को उसके घर से ही गिरफ्तार कर लिया। उसे कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।

दरअसल, फरसपाल क्षेत्र के समलूर गांव के रहने वाले चरण सिंह की मामूली विवाद पर गांव के ही मुरली ठाकुर (25) व रामचंद ठाकुर (42) ने पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। जिसके बाद चरण सिंह के शव को दोनों आरोपियों ने गांव के ही एक पुलिया के नीचे गड्‌ढे में फेंक दिया था। जांच के बाद पुलिस ने आरोपी मुरली ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया था। जबकि आरोपी रामचंद फरार हो गया। 4 सालों से पुलिस रामचंद की तलाश में जुटी हुई थी।

पुलिस ने पीछा कर पकड़ा

रामचंद पुलिस से बचने के लिए नक्सल इलाके में बिंता गांव के कोरेकोट के मांझीपारा में छिपकर रह रहा है। सूचना के आधार पर फरसपाल थाने से पुलिस टीम को रवाना किया गया। टीम गांव में पहुंची तो वह एक मकान में आराम कर रहा था। जवानों को देखते ही वहां से भागने का प्रयास किया। हालांकि जवानों ने पीछा कर उसे दबोच लिया।

खबरें और भी हैं...