नक्सलियों में फैला कोरोना:दंतेवाड़ा एसपी का दावा- कोरोना से 200 नक्सली बीमार, 10 से ज्यादा नक्सलियों की मौत

दंतेवाड़ा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो।
  • एसपी बोले- कोरोना से मौत के बाद 8 नक्सलियों के शव भी जलाए गए, छत्तीसगढ़ के साथ तेलंगाना में भी अलर्ट

कोरोना की दूसरी लहर से अब नक्सल संगठन भी बुरी तरह प्रभावित हुआ है। दंतेवाड़ा, सुकमा, बीजापुर जिले के जंगल के इलाकों में कोरोना और अन्य बीमारियों से ग्रसित होने वाले नक्सलियों की संख्या बढ़कर 200 से ज्यादा हो गई है। इनमें से 10 से ज्यादा नक्सलियों की मौत व 8 से ज्यादा मृत नक्सलियों के शवों के अंतिम संस्कार किए जाने का दावा दंतेवाड़ा एसपी ने किया है।

इस दावे के अनुसार छत्तीसगढ़ के दक्षिण बस्तर व इससे सटे तेलंगाना राज्य के 100 से ज्यादा गांवों के लिए अब बड़ा खतरा हो गया है। दोनों राज्यों के बॉर्डर के गांव धुरनक्सलगढ़ व पहुंचविहीन हैं। वहां कोरोना से ग्रामीण संक्रमित हुए तो बड़ी आबादी को नुकसान झेलना पड़ सकता है।

दरअसल, दो दिन पहले एसपी ने बताया था कि बस्तर इलाके में करीब 100 से ज्यादा नक्सली कोरोना व फूड पॉइजनिंग की चपेट में आकर बीमार हो चुके हैं। इनमें 25 लाख रुपए की इनामी नक्सली सुजाता, जयलाल, दिनेश सहित अन्य नक्सलियों के गंभीर होने की पुख्ता सूचना पुलिस के पास थी। जिन नक्सलियों की मौत हुई है उनके नामों का खुलासा अभी नहीं हुआ है। लेकिन ये बड़े कैडर के ही नक्सली बताए जा रहे हैं।

बीमार नक्सली सरेंडर करें, हम कराएंगे इलाज

एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने बताया कि दक्षिण बस्तर इलाके में 10 से ज्यादा नक्सलियों के कोरोना व फूड पॉइजनिंग से मौत होने की पुख्ता खबर मिली है। 8 नक्सलियों के शव भी जला दिए गए हैं। जिन नक्सलियों की मौत हुई है वे दक्षिण बस्तर इलाके के हैं। इन बीमारियों से जिन नक्सलियों की मौत हुई है उनके नामों के बारे में पता किया जा रहा है। सुकमा इलाके में नक्सलियों ने वैक्सीन व दवाएं भी मंगाई है। अब भी हमारी अपील है कि जो नक्सली बीमार हैं वे आकर सरेंडर करें। पुलिस इलाज कराएगी।

नक्सली वैक्सीन व दवाएं मंगवा रहे

कोरोना सहित अन्य बीमारियों से जूझ रहे नक्सलियों ने सुकमा के कोंटा, दोरनापाल में वैक्सीन व दवाइयां भी मंगाए जाने, वैक्सीन व दवाएं लूटने की भी खबर दंतेवाड़ा पुलिस को मिली थी। हालांकि सुकमा एसपी केएल ध्रुव ने फिलहाल इस तरह की सूचना से इंकार किया है।

तेलंगाना पुलिस भी बोलीं- सरेंडर करें, इलाज कराएंगे

दक्षिण बस्तर के सुकमा, बीजापुर, दंतेवाड़ा के सीमाई इलाकों के गांवों में अब खतरा बढ़ गया है। दक्षिण बस्तर के तीनों जिलों से तेलंगाना राज्य की सीमा लगती है। ऐसे में अब तेलंगाना पुलिस भी अलर्ट हो गई है। भास्कर से चर्चा में तेलंगाना के कोतागुड़म एसपी सुनील दत्त ने कहा कि दोनों राज्यों के बॉर्डर इलाके में बड़ी संख्या में नक्सलियों को कोरोना होने की खबर पुख्ता है। इनमें कई तेलंगाना के बड़े कैडर के नक्सली भी हैं। ग्रामीणों तक हम लगातार सूचनाएं पहुंचा रहे हैं कि वे नक्सलियों की मीटिंग में शामिल न हों।

खबरें और भी हैं...