पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रोक:हिंदी मीडियम के बच्चों को टीसी न दें: बीईओ

दंतेवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक ही परिसर में हिंदी-इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने उच्चाधिकारियों को लिखेंगे पत्र

अंग्रेजी माध्यम में बदली गई गीदम की कन्या व बालक स्कूल के हिंदी मीडियम के बच्चों को अब टीसी वापस नहीं दी जाएगी। करीब हफ्तेभर से मामले में चल रहे बवाल व भास्कर की खबर के बाद गीदम बीईओ शेख रफीक ने टीसी वापसी के मामले पर रोक लगा दी है। अब इसी कैम्पस के दो मर्ज स्कूलों को वापस खोलने भास्कर के ही सुझाव पर शिक्षा विभाग अमल कर रहा है। उच्चस्तर से अगर मुहर लग गई तो अंग्रेजी के साथ ही हिंदी मीडियम की स्कूल भी इसी कैम्पस में चलेगी व कोई भी बच्चा प्रभावित नहीं होगा। इधर टीसी लेने पर रोक लगाने के बाद अब परिजन खुश हैं। इसके लिए भास्कर को धन्यवाद दिया है। बच्चों के परिजनों ने बताया कि हफ्तेभर से शिक्षक टीसी वापस लेने परेशान कर रहे थे। कोरोनाकाल में बच्चों के दूसरी जगह एडमिशन को लेकर भी समस्याएं थीं, लेकिन अब ठीक है। भास्कर को इसके लिए हम धन्यवाद देते हैं। गीदम बीईओ शेख रफीक ने बताया कि किसी भी बच्चे को टीसी वापस नहीं दी जा रही है। शिक्षकों को इसके लिए निर्देशित कर दिया गया है। कहा गया है कि कोरोना काल में ऑनलाइन पढ़ाई हो रही है, बच्चे स्कूल नहीं आ रहे हैं। ऐसे में टीसी देकर उन्हें प्रभावित न किया जाए। उच्चाधिकारियों को पत्र लिखकर पूर्व में इसी कैम्पस की मर्ज हुई दो स्कूलों को खोले जाने की मांग की जाएगी।

शहर की सबसे पुरानी स्कूल का माध्यम न बदलें

इधर गीदम के वरिष्ठ नागरिक सुनील जैन ने कहा कि कन्या व बालक स्कूल गीदम की सबसे पुरानी स्कूल है। अंग्रेजों के शासनकाल में ये स्कूल बनी थी तब भी इसका माध्यम हिंदी ही था। इस स्कूल से कई होनहार बच्चे पढ़कर निकले हैं व कई उच्च पदों पर आसीन हैं। शहर की करीब 100 साल पुरानी धरोहर का माध्यम न बदलें। इसे हिंदी ही रहने दिया जाए। गीदम की कन्या माध्यमिक व बालक प्राथमिक शाला को साल 2016-17 में अंग्रेजी माध्यम स्कूल का दर्जा मिला था।

जानिए... यह है पूरा मामला
दरअसल गीदम की कन्या माध्यमिक व बालक प्राथमिक शाला को साल 2016-17 में अंग्रेजी माध्यम स्कूल का दर्जा मिला था, लेकिन इस बारे में परिजनों को पता ही नहीं चला। 3 साल बाद अब एकाएक शिक्षक इस स्कूल को अंग्रेजी माध्यम का होना बताकर टीसी थमाने बुलाने लगे और बवाल हो गया। हिंदी माध्यम स्कूल में करीब 225 बच्चे, जबकि अंग्रेजी माध्यम में अभी 50 बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें