मुखबिरी के शक में दिव्यांग की हत्या:माओवादियों ने धारदार हथियार से गला रेता, शव के पास पर्चे भी फेंके

दंतेवाड़ा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में माओवादियों ने पुलिस मुखबिरी के शक में एक दिव्यांग युवक की हत्या कर दी है। बताया जा रहा है कि देर रात करीब 4 से 5 की संख्या में ग्रामीण वेशभूषा में पहुंचे माओवादियों ने वारदात को अंजाम दिया है। युवक की हत्या करने के बाद माओवादियों ने शव के पास पर्चे भी फेंके हैं। हत्या की जानकारी मिलने के दूसरे दिन सुबह जवान गांव पहुंचे हैं। मामला अरनपुर थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, जिले के धुर नक्सल प्रभावित नीलावाया गांव के पटेल पारा में नक्सली पहुंचे। यहां रहने वाले युवक हरेंद्र कोर्राम के घर में देर रात दस्तक दी। हरेंद्र को घर से बाहर निकालकर धारदार हथियार से गला रेत दिया। बताया जा रहा है कि माओवादियों ने परिवार के सदस्यों के सामने ही वारदात को अंजाम दिया है। हत्या करने के बाद माओवादी जंगल की तरफ चले गए।

सुबह पुलिस को हत्या की जानकारी मिली। जिसके बाद अरनपुर थाना के जवान गांव पहुंचे हैं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मामले की जांच चल रही है। जवान अभी लौटे नहीं है। जांच के बाद ही पूरा मामला स्पष्ट हो पाएगा।

खबरें और भी हैं...