पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जेईई में दंतेवाड़ा के 17 बच्चे पास:कई किमी दूर जाकर डाउनलोड करते थे स्टडी मटेरियल

दंतेवाड़ा8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोनाकाल में भी ऑनलाइन पढ़ाई से जुड़े रहकर दंतेवाड़ा के ग्रामीण इलाकों के 17 बच्चों ने जेईई मेंस की परीक्षा क्वालीफाई की है। परीक्षा परिणामों के आते ही दंतेवाड़ा के ये बच्चे काफी खुश हैं। जिन बच्चों ने परीक्षा क्वालीफाई की है सभी कारली और बालूद के ‘छू लो आसमान’ संस्था के हैं और सभी दंतेवाड़ा के अंदरूनी गांवों के रहने वाले हैं। इनमें से कई बच्चे ऐसे हैं जिनके गांव में मोबाइल नेटवर्क तक नहीं है, तब भी इन सब ने हौसला कम नहीं होने दिया और ऑनलाइन पढ़ाई से जुड़े रहकर सफलता हासिल की है। इस साल दंतेवाड़ा के 63 बच्चों ने जेईई मेंस की परीक्षा दिलाई थी। जिसमें 17 बच्चों को सफलता मिली है। पिछले साल 13 बच्चों ने मेंस की परीक्षा क्वालीफाई की थी। कलेक्टर दीपक सोनी ने इसके लिए सभी बच्चों को बधाई दी। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना के बीच भी बच्चों ने ऑनलाइन क्लासेस नहीं छोड़ी। इस सफलता के लिए बच्चों के साथ संस्था के शिक्षकों के मेहनत का परिणाम है।

ऐसे कराई पढ़ाई
‘छू लो आसमान’ बालूद के अधीक्षक राजा पॉल व कारली की अधीक्षक कृष्णा समय ने बताया कि कोरोना के बीच भी बच्चों की कोचिंग जारी रखवाई। बच्चों का वाट्सप ग्रुप बनाया, हर दिन शिक्षकों ने स्टडी मटेरियल शेयर किया, हर हफ्ते टेस्ट लिया। बच्चों के गांवो में नेटवर्क की समस्या है। विपरीत परिस्थियों में भी बच्चों ने बेहतर रिजल्ट दिया है। ऑफलाइन सर्वर ज्ञान गंगा का भी बड़ा सहयोग मिला है। 2011 से शुरू हुई संस्था में फंडिंग एनएमडीसी सीएसआर मद से हो रही है।

जानिए बच्चों के सामने रही ये चुनौती, तब भी नहीं डगमगाया हौसला
इंद्रावती नदी पार धुर नक्सलगढ़ गांव चेरपाल के संतुराम ने भी इस बार फिर जेईई परीक्षा दिलाई। संतु ने भास्कर से चर्चा में बताया कि गांव में नेटवर्क नहीं था, नदी किनारे नेटवर्क एरिया में आकर वाट्सएप पर भेजे गए स्टडी मटेरियल को डाउनलोड कर पढ़ता था तो कभी बारसूर में चाचा के घर पर रहकर। एडवांस की परीक्षा के लिए तैयारी में जुट गया हूं। छात्र बच्चू राम नेताम ने बताया कि गांव में नेटवर्क नहीं है। लॉकडाउन के बाद घर भेज दिया गया था। पढ़ाई जारी रखी। जहां नेटवर्क मिलता वहां आकर डेढ़ से दो घंटे हर दिन समय देता और शिक्षकों के बताए मार्गदर्शन में पढ़ाई की। नक्सलगढ़ गांव एड़पाल के अभय कुमार मंडावी के गांव में मोबाइल कनेक्टिविटी की भी समस्या है। पिता के सपनों को साकार करने चुनौती के बीच पढ़ाई की। ऐसे ही अंदरूनी गांव दोडपाल, आयता दूधी, सोमनपल्ली जैसे गांव के बच्चों के जुनून ने बंद स्कूलों के बीच भी घर पर रहकर पढ़ाई कर जेईई मेंस परीक्षा में परचम लहराया।
इन छात्रों ने पास की परीक्षा
दिलीप कुमार सोरी, महेन्द्र कुमार नाग, गणेश, अभय कुमार मण्डावी, हेमन्त कुमार, रितीक ककेम, सन्तुराम कुंजाम , बच्चूराम नेताम, आयता दुधी, श्रवण कुमार गोटा, महेश कुमार भास्कर, निखिल तेलाम, मनोज कुमार, जावा युवराज, कुमारी उपासना नेगी, कुमारी कल्याणी नेताम व राजीव जैन ने सफलता हासिल की।

जेईई में बस्तर जिले से प्रयास विद्यालय के 10 और एकलव्य के 8 छात्रों ने लहराया परचम
बस्तर जिले के प्रयास आवासीय विद्यालय और एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के छात्रों ने आईआईटी, एनआईटी और केंद्र सरकार के इंजीनियरिंग संस्थाओं में प्रवेश के लिए जेईई मेंस की परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन किया है। इस साल कुल 29 छात्रों ने परीक्षा दी थी, जिसमें से 10 विद्यार्थी जेईई मेंस की परीक्षा में पास हुए हैं, जबकि पिछले साल 52 छात्रों में से 13 का चयन हुआ था। ऐसे ही एकलव्य आदर्श विद्यालय में इस साल 21 में से 8 छात्रों को सफलता मिली है, जबकि पिछले साल 17 में से 4 छात्रों का चयन हुआ था। प्रयास विद्यालय जगदलपुर के प्राचार्य गजेन्द्र श्रीवास्तव ने बताया कि बच्चों ने लॉकडाउन के दौरान भी घर पर मेहनत की। शिक्षकों ने ऑनलाइन पढ़ाई में मदद की। इसी का नतीजा है कि बच्चों ने सफलता हासिल की है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में रहेगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा। पिछले कुछ समय से चल रही किसी समस्या का समाधान मिलने से राहत मिलेगी। कोई बड़ा निवेश करने के लिए समय उत्तम है। नेगेटिव- परंतु दोपहर बाद परिस...

और पढ़ें