50 नक्सलियों ने पटरी उखाड़ी,19 डिब्बे डिरेल:भांसी-बासनपुर के बीच 7 माह बाद वारदात, पुलिस ने स्टाफ को निकाला

दंतेवाड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नक्सलियों ने उखाड़ी पटरी तो ऐसे डिरेल हो गई मालगाड़ी। - Dainik Bhaskar
नक्सलियों ने उखाड़ी पटरी तो ऐसे डिरेल हो गई मालगाड़ी।

किरंदुल से विशाखापट्टनम जा रही मालगाड़ी को नक्सलियों ने 7 महीने बाद फिर एक बार फिर निशाना बनाया है। भांसी-बासनपुर के बीच नक्सलियों ने पटरियों को उखाड़ दिया। 19 डिब्बे पटरी से उतर गए। घटना शुक्रवार की रात करीब 8:35 बजे की है। नक्सलियों ने इंजन में बैनर भी बांधा। यहां भैरमगढ़ एरिया कमेटी के 50 से ज्यादा नक्सली मौजूद थे। खबर मिलते ही पुलिस की टीम पहुंची। आधी रात को यहां फंसे रेलवे कर्मियों को सुरक्षित निकाल लाया। शनिवार सुबह रेलवे कर्मियों ने पहुंच ट्रैक मरम्मत का काम शुरू कर दिया है।

ट्रेन में 3 स्टाफ थे वॉकी-टॉकी लूटी
ट्रेन में हम तीन स्टॉफ थे। हम घबरा गए। 50 से ज्यादा नक्सली मौजूद थे। नक्सली हमारे पास पहुंचे। हमसे बैनर बांधने कहा। वॉकीटॉकी लूट लिए। फिर कहा कि बैनर की फोटो खींचो। फिर मोबाइल बंद करवाया। सुबह 6 बजे तक यहीं रुको, खाना लाए हो कि नहीं। हम सभी बहुत घबराए हुए थे। डरकर सामने के इंजन में बैठे रहे। दहशत के बीच एक-एक मिनट गुजर रहे थे।
(जैसा कि रेलवे स्टॉफ नायक शर्मा व डी दिनेश ने बताया)

सुकमा में नक्सलियों ने तोड़ी स्लरी पाइपलाइन
गढ़चिरौली एनकाउंटर में महाराष्ट्र की सी-60 कमांडो के हाथों अपने 27 साथियों के मारे जाने के विरोध में नक्सलियों द्वारा शनिवार को 6 राज्यों में बुलाया गया था। इस एक दिनी बंद से पहले माओवादियों ने सुकमा जिले के गादीरास क्षेत्र के परिया इलाके में आर्सेलर मित्तल की स्लरी पाइपलाइन को क्षतिग्रस्त कर दिया। हालांकि स्लरी पाइपलाइन को नक्सली बड़ा नुकसान नहीं पहुंचा पाए। स्लरी पाइपलाइन क्षतिग्रस्त होने से सप्लाई का काम प्रभावित हुआ। शनिवार सुबह कंपनी ने कड़ी सुरक्षा में सुधार के लिए टीम भेजकर स्लरी पाइप लाइन को दुरुस्त कराया। गौरतलब है कि आर्सेलर मित्तल कंपनी स्लरी पाइपलाइन में माध्यम से किरंदुल से विशाखापट्टनम तक लौह अयस्क की सप्लाई करती है। इसके लिए कंपनी ने 267 किमी लंबी स्लरी व वाटर पाइपलाइन बिछा रखी है।

खबरें और भी हैं...