शिकायत / समूह की महिलाएं बोलीं- अफसर ने ही गड़बड़ी कराई

X

  • पोषण आहार में गड़बड़ी का मामला, महिलाओं ने परियोजना अधिकारी पर लगाए गंभीर आरोप

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

दंतेवाड़ा. गर्भवती व शिशुवती महिलाओं के पूरक पोषण आहार में गड़बड़ी के मामले में समूह की महिलाओं ने परियोजना अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। दरअसल, 10 दिन पहले जिला कार्यक्रम अधिकारी बीएस ठाकुर ने दंतेवाड़ा परियोजना के भोगाम, मुरकी व मेटापाल में रेडी टू ईट फूड वितरण में की जा रही गड़बड़ी पकड़ी और रजिस्टर जब्त करके ले आए। इसके बाद परियोजना अधिकारी से लेकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व समूह की महिलाओं में हड़कंप मच गया। इसके बाद समूह की महिलाएं उल्टे जिला कार्यक्रम अधिकारी की ही शिकायत लेकर विधायक के पास पहुंच गईं थी। 
अब समूह की इन महिलाओं ने परियोजना अधिकारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि गड़बड़ी से लेकर अधिकारी की शिकायत कराने तक के पीछे खुद परियोजना अधिकारी संगीता बिंड का ही हाथ है। समूह की महिलाओं द्वारा जिला कार्यक्रम अधिकारी को दिया आवेदन भास्कर के हाथ लगा है। आवेदन में महिलाओं ने यह भी कहा है कि सच्चाई सामने आई तो हमें नक्सली मामले में फंसाया जा सकता है, क्योंकि परियोजना अधिकारी हमेशा इस बात की धमकी देती रही हैं कि उनके पति पुलिस में हैं। 
पहले मीटिंग लेकर कहा- रेडी टू ईट कम बांटो: डीपीओ के नाम लिखे पत्र में गुलाब समूह मुरकी, मां दंतेश्वरी समूह मेटापाल, महिला विकास समूह भोगाम की महिलाओं का कहना है कि परियोजना अधिकारी संगीता ने पोस्टिंग के बाद मीटिंग लेकर कहा कि रेडू टू ईट आंगनबाड़ी केंद्रों में कम बांटों। सुपरवाइजर जो मांग पत्र दे, उसमें एक हफ्ते का बांटकर बाकी चालान की कॉपी मेरे पास लाकर रख दो। बिल निकालने मेरी जिम्मेदारी है। 
महिलाएं बोलीं- परियोजना अधिकारी ने कहा था कि विधायक से करो डीपीओ की शिकायत
गड़बड़ी पकड़े जाने के बाद समूह की महिलाओं ने आवेदन में यह भी कहा है कि जब डीपीओ जांच के लिए आए, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से बात की, गड़बड़ी पकड़कर रजिस्टर ही ले गए , यह बात परियोजना अधिकारी को पता चली। परियोजना अधिकारी ने कहा मेरी पहुंच मंत्री तक है, डीपीओ और कलेक्टर कुछ नहीं बिगाड़ पाएंगे। विधायक के पास जाकर डीपीओ की शिकायत करो, जिससे दोनों का ट्रांसफर हो जाएगा। हमारा समूह बचा रहे इसलिए  उनके कहने पर विधायक के पास गए। लेकिन अब  कहती हैं जो तुम लोग किए हो तुम जानो। हमें कोई मतलब नहीं। संगीता मैडम के बोलने पर ही हमने वितरण में गड़बड़ी की है। हमसे गलती हुई है। 
मैं किसी तरह का बयान देने के लिए अधिकृत नहीं 
जिला कार्यक्रम अधिकारी बीएस ठाकुर ने कहा कि समूह की महिलाओं ने आवेदन देकर स्वीकार भी किया है कि रेडी टू ईट फूड में गड़बड़ी हुई है। मामले की जांच कराई जाएगी, दोनों पक्षों का बयान लेने के बाद आगे की कार्रवाई होगी। मामले में परियोजना अधिकारी संगीता बिंड का भी पक्ष जानने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह का बयान देने मैं अधिकृत नहीं हूं। मेरे अधिकारी ही बयान दे सकते हैं। शिकायत किस तरह की हुई है मैंने कॉपी भी मैंने नहीं देखी है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना