पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

काम में आई तेजी:बड़ी रेललाइन बिछाने अधिग्रहित होगी 23 गांवों की 13.84 हेक्टेयर जमीन

धमतरी23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
धमतरी। करीब डेढ़ साल पहले छोटी रेल धमतरी से केंद्री तक चलना बंद हो गया है। इस रूट पर ही बड़ी रेल लाइन की पटरी बिछाई जाएगी। - Dainik Bhaskar
धमतरी। करीब डेढ़ साल पहले छोटी रेल धमतरी से केंद्री तक चलना बंद हो गया है। इस रूट पर ही बड़ी रेल लाइन की पटरी बिछाई जाएगी।
  • बड़ी रेललाइन के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू, छोटी रेललाइन उखाड़ी गई, धमतरी से केंद्री तक 67 किमी बिछाई जाएगी पटरी, 10 स्टेशन हाेंगे

धमतरी से केंद्री और अभनपुर-राजिम तक 544 करोड़ की लागत से 67.20 किमी तक ब्रॉड गेज रेललाइन का काम धीरे-धीरे गति पकड़ रहा है। शनिवार से 23 गांवों के 13.8426 हेक्टेयर जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू हाे गई है। अखबार में इश्तिहार प्रकाशन कर ली जाने वाली जमीन के संबंध में सूचना दी है।

इनमें कुरूद ब्लॉक के अटंग, भाठागांव, कोटगांव, डांडेसरा, भरदा, भालूकोना, कोड़ापारा, सिर्री, आलेखुटा, कुल्हाड़ी, चटौद, मरौद, चरमुडिया, कुरूद, धमतरी ब्लॉक के सेनचुआ, बिजनापुरी, सरसोपुरी, पुरी, लिमतरा, संबलपुर, सेहराडबरी, बठेना, धमतरी शामिल हैं। इनमें कुल 497 किसानों की जमीन हैं। यहां सिंचित व असिंचित दोनों जमीन हैं। ब्रॉड ग्रेज के लिए स्लीपर और पटरियों की खेप जगह-जगह आ गई है। कुछ स्थानों पर प्रायोगिक तौर इन्हें बिछाया गया है।

25 लाख की आबादी को मिलेगा फायदा: धमतरी से केंद्री और अभनपुर से राजिम तक बड़ी लाइन बनने से करीब 25 लाख की आबादी को बड़ा फायदा मिलेगा। सड़क पर यातायात का दबाव कम हो जाएगा। पैसे कम लगेंगे। खास बात यह है कि राजिम धार्मिक स्थल पर पुन्नी मेले का आयोजन होता है, जहां लाखों दर्शनार्थी जाते हैं, बड़ी रेल बनने से लोगों को आने-जाने में आसानी होगी। दर्शनार्थी भी बढ़ेंगे।

दाे साल पहले किया गया था शिलान्यास

बड़ी रेल लाइन का शिलान्यास 2 साल पहले 6 अक्टूबर 2018 को रेल मंत्री पीयूष गोयल और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने किया था। काम को बुलेट ट्रेन की तरह कर 2022 में बनाने का लक्ष्य केंद्रीय मंत्री ने रखा था, लेकिन अभी छोटी पटरी उखाड़ने का काम तक पूरा नहीं हुआ है। अभी किसानों के मुआवजा भी नहीं बंट पाया है। ऐसे में जाहिर है कि प्रोजेक्ट के पूरा होने में देरी हाेगी।

स्थानीय व्यापार में होगी बढ़ोतरी

बड़ी लाइन ट्रेनों की गति करीब 120 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। बड़ी रेललाइन से एक-दूसरे क्षेत्र की कनेक्विटी बढ़ेगी। धमतरी व राजिम के छोटे किसान अपनी सब्जियों को रायपुर मंडी आसानी से पहुंचा सकेंगे। छोटे और स्थानीय व्यापारियों को लाभ मिलेगा। क्योंकि धमतरी जिला राइस मिल और कृषि प्रधान जिला है। इस लाइन पर ट्रेनों से माल ढुलाई भी होगी। कम दूरी के चलते माल भाड़ा भी कम लगेगा।

ब्रिटिश काल में बनी थी छोटी रेलवे लाइन

ब्रिटिश कॉल में सन 1871 में रायपुर से नागपुर जाने के लिए इस रेलवे मार्ग की योजना बनी थी। सन 1900 में छोटी रेलवे लाइन का निर्माण हुआ था। धमतरी एवं अभनपुर-राजिम नेरोगेज (छोटी रेलवे लाइन) से यात्री परिवहन के साथ हल्के माल की ढुलाई होती थी। 21 दिसंबर सन 1920 में रायपुर से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने इसी रेलवे लाइन पर ट्रेन से सफर किया था। ट्रेन से धमतरी आकर कंडेल नहर सत्याग्रह का नेतृत्व किया था।

ये होंगे 10 प्रमुख रेलवे स्टेशन

  • केंद्री रेलवे स्टेशन
  • अभपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन
  • चटौद रेलवे स्टेशन
  • सिर्री रेलवे स्टेशन
  • कुरुद क्रासिंग स्टेशन
  • सरसांपुरी पैसेंजर हॉल्ट
  • सांकरा पैसेंजर हॉल्ट
  • धमतरी टर्मिनल स्टेशन
  • मानिक चौरी
  • राजिम टर्मिनल स्टेशन
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें