पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कलेक्टर ने जारी किया स्वास्थ्य विभाग को आदेश:394 नए केस, 2 मौत, अब एपी स्ट्रेन का खतरा, आंध्र से आने वाले होंगे क्वारेंटाइन

धमतरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आंध्रप्रदेश से आने वालों पर नजर रखने जिले की सीमाओं पर बढ़ाई निगरानी, सावधानी के सभी उपाय कर रहा प्रशासन

जिले में गुरुवार को 394 संक्रमित मिले। 2 मरीजाें की मौत हो गई। संक्रमण का स्तर कम हाेता नजर अा रहा है लेकिन इसी बीच आंध्र प्रदेश (एपी) में मिले कोरोना के नए स्ट्रेन का खतरा मंडराने लगा है। यह 10 से 15 गुना तक संक्रामक बताया जा रहा है। इसके खतरे काे देखते हुए जिले की सीमावर्ती सीमाओं को सील किया है।

कलेक्टर ने आंध्र प्रदेश सहित दक्षिण भारतीय राज्यों से आकर जिले में प्रवेश करने वालों पर विशेष नजर रखने और आरटीपीसीआर जांच कराने के बाद ही प्रवेश देने के अादेश दिए हैं। साथ ही उन्हें 14 दिन तक क्वारेंटाइन में रखने कहा है। उन्होंने आदेश में यह भी कहा है कि दक्षिण भारत से यात्रा कर आने वाला व्यक्ति तत्काल अपनी यात्रा की विस्तृत सूचना नगर निगम, नगर पंचायत, ग्राम पंचायत के कार्यालय में लिखित रूप से दें। यदि किसी व्यक्ति के द्वारा यात्रा की जानकारी छुपाई जाती है, तो ऐसे लोगों के खिलाफ एफआईआर कर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

14 दिन रहेंगे क्वारेंटाइन पर
कलेक्टर जेपी मौर्य ने आदेश में कहा है कि नए वैरिएंट के खतरे काे देखते हुए आंध्रप्रदेश या अन्य दक्षिण भारतीय राज्यों से आने के बाद सभी लाेगाें काे होम क्वारेंटाइन में अनिवार्य रूप से रहना होगा। यह समय 14 दिन का हाेगा। ऐसे लोगों को होम क्वारेंटाइन की अनुमति तब मिलेगी, जब घर में अलग से शौचालय, बाथरूम की सुविधा हो।

इन्हें होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं
सीएमएचओ डॉ. डीके तुर्रे ने कहा कि ऐसे मरीजों को होम आइसोलेशन में रहने की अनुमति नहीं होगी, जो 60 साल से अधिक, को-माॅर्बिड जैसे शुगर, बीपी, किडनी से पीड़ित हो। गर्भवती माता और ऐसे मरीज जिनका आॅक्सीजन स्तर 93 प्रतिशत से कम है, इन्हेें भी होम आइसोलेशन की अनुमति नहीं दी जाएगी।

नियम तोड़ने पर 5 हजार जुर्माना, एफआईआर भी
प्रशासन ने सख्त हिदायत दी है कि होम आइसोलेटेड मरीज के परिजन व्यवसाय करने, काम करने अथवा घूमने-फिरने बाहर निकलते हैं, तो ऐसी परिस्थिति में तत्काल पंचायत सचिव, सरपंच ऐसे व्यक्तियों पर कार्रवाई करनी चाहिए। इन पर एफआईआर भी हो सकती है। 5 हजार तक का जुर्माना भी लगाया जा सकता है।

नियमाें के पालन से संक्रमण कम होगा
कलेक्टर जेपी मौर्य ने होम आइसोलेशन में रहने वालों के लिए ऑडियो मैसेज दिया है। उन्होंने सभी पंचायत सरपंच, सचिव, कोविड काॅल सेंटर में वाॅलंटियर्स से अपील की है कि वे प्रत्येक होम आइसोलेटेड मरीज, उनके परिजनों तक कोविड नियमों का कड़ाई से पालन कराएं। 90 प्रतिशत लोग घर पर रहकर स्वस्थ हो रहे है। संक्रमण से डरे न, बल्कि मानसिकता को सकारात्मक बनाकर पॉजिटिव सोचें। आइसोलेट वाले मरीज कमरे की सफाई, बर्तन, कपड़े की सफाई स्वयं करें।

कलेक्टर ने 5 बिंदुओं का यह आदेश दिया

  • आंध्र प्रदेश या अन्य दक्षिण भारतीय राज्यों से आने वालों को 14 दिन के लिए होम क्वारेंटाइन किया जाए।
  • घर में यदि अलग से शौचालय, बाथरूम नहीं होने पर होम क्वारेंटाइन की अनुमति नहीं दी जाए।
  • छत्तीसगढ़ प्रवेश करने के 72 घंटे पहले आरटीपीसीआर टेस्ट अपने पास रखें। जिले में प्रवेश करते ही आरटीपीसीआर कराएं। जांच रिपोर्ट आने तक स्वयं आईसोलेट रहे।
  • दक्षिण भारत से आए यात्री विस्तृत सूचना नगर निगम, नगर पंचायत, ग्राम पंचायत कार्यालय में लिखित दें।
  • जानकारी छुपाने पर एफआईआर कराई जाए।

नगरी में मिले सबसे अधिक 123 मरीज
जिले में 394 मरीज में अकेले नगरी ब्लॉक से 123 मरीज शामिल हैं। कुरूद से 112, धमतरी ग्रामीण से 66, मगरलोड से 38 औश्र शहर से 57 संक्रमित मरीज मिले हैं। अब तक 21 हजार 827 लोग संक्रमित हो गए, जबकि 14670 स्वस्थ हुए। 430 लोगों की मौत हो गई। 6725 एक्टिव हैं।

खबरें और भी हैं...