पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फिर बढ़ी चिंता:महीनेभर बाद ओडिशा से लौटे 13 हाथी, बिरगुड़ी रेंज में फिर 27 हाथियों का डेरा

धमतरी7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
धमतरी. नरहरपुर क्षेत्र से होकर 14 हाथियों का दल वापस जिले के बांसपानी, बिरगुड़ी लौट आया। - Dainik Bhaskar
धमतरी. नरहरपुर क्षेत्र से होकर 14 हाथियों का दल वापस जिले के बांसपानी, बिरगुड़ी लौट आया।
  • एक भी हाथी को कॉलर आईडी नहीं लगी इसलिए खतरा ज्यादा, चंदा हथिनी का दल बालोद के तांदुला डैम के पास, जिले में आए 4 में से 3 दंतैल मगरलोड से फिर गरियाबंद की ओर बढ़े

हमारे जिले का जंगल हाथियों को खूब पसंद आ रहा है। महीनेभर पहले एक दल बनाकर ओडिशा गए 13 हाथी शनिवार की रात वापस बिरगुड़ी रेंज में लौट आया है। अब फिर से नगरी ब्लॉक में 27 हाथी का डेरा है। दोनों हाथी बिरगुड़ी रेंज में हैं, लेकिन दोनों दल की दूरी 15 किमी है। किसी भी हाथी को कॉलर आईडी नहीं लगी है इसलिए मल-मूत्र, चिंघाड़ से नजर रखे रहे हैं। वन विभाग के अफसरों के मुताबिक यह दल कभी भी एक साथ मिल सकते हैं। एक ही रेंज में 27 हाथी के दल के विचरण करने से अफसरों की चिंता फिर बढ़ गई है। वे फसल भी बर्बाद कर रहे हैं।

जंगल में डाले थे केले, सब्जी, गन्ने
एसडीओ हरीश पांडेय ने बताया ओडिशा से 27 हाथियों का दल 7 महीने पहले आया था। नगरी रेंज के जंगल में सवा महीने रहा। हाथियों को सीतानदी की ओर भेजने जंगल में केले, सब्जी, गन्ने डाले गए। फिर दल 2 गुट बंट गया और 13 हाथी ओडिशा चले गए व 14 हाथी कांकेर की ओर बढ़े। ये 14 हाथी 3 दिन पहले नरहरपुर के मांडरादरहा, गंवरसिल्ली, शामतरा के जंगल से होते वापस धमतरी के बांसपानी, बिरगुड़ी रेंज में लौटे। शनिवार रात को 13 हाथी लौट आए हैं, जो चारगांव के पास घूम रहे हैं।

23 हाथी 6 जिलों में घूम रहे
2020 से लगातार चंदा हथिनी दल में शामिल 23 हाथी 6 जिलों में घूम रहे हैं। इनमें धमतरी सहित महासमुंद, गरियाबंद, कांकेर, बालोद व राजनांदगांव शामिल हैं। अभी चंदा हथिनी का दल पड़ोसी जिले बालोद के तांदुला डैम के करीब हैं। 11 सितंबर को एक शिशु हाथी बीमार पड़ गया था, जिसे सीसीएफ टीम और रायपुर से आए डॉक्टरों ने इलाज कर स्वस्थ किया। अब हाथियों की मूवमेंट फिर से धमतरी जिले की ओर हैं। यदि यह दल भी जिले में बालोद से लौटता हैं, तो 50 हाथी के 3 दल होंगे।

रोड के पास दिखा दंतैल
इधर 15 दिन पहले गंगरेल डुबान से चंदा दल के 4 में से 3 दंतैल मगरलोड ब्लॉक होते गरियाबंद जिले में गए हैं। एक दंतैल केरेगांव रेंज में घूम रहा है जो धमतरी-नगरी स्टेट हाईवे पर रविवार शाम को कुमड़इन मंदिर के पास पहुंच गया। वन विभाग और पुलिस ने रास्ते ब्लॉक कर दिया था। बाद में दंतैल रोड पार कर मुरुमसिल्ली बांध की ओर चला गया।

मल-मूत्र, चिंघाड़ से हाथियों की निगरानी कर रहे
जिले में 2 हाथियाें के दल हैं। इनमें से किसी भी हाथी में रेडियो काॅलर आईडी नहीं है। ऐसे में हाथियों की निगरानी मल-मूत्र, चिंघाड़ और पैर के पंजों से हो रही है। धमतरी, मगरलोड, नगरी तहसील के मैदानी वन अफसर, कर्मचारी इन हाथियों की निगरानी कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...